Friday, August 19, 2022
Homeन्यूज़न्यूज़लॉकडाउन के बीच चीनी के उत्पादन में रिकाॅर्ड बढ़त, जानिए इसकी वजह,...

लॉकडाउन के बीच चीनी के उत्पादन में रिकाॅर्ड बढ़त, जानिए इसकी वजह, बाजार पर होगा ये असर

 

नई दिल्ली। लॉकडाउन के बीच भी लगातार शुगर मिलें चलती रहीं। इस दौरान चीनी का उत्पादन अनुमान से बेहतर हुआ। यूपी ने तो इस बार रिकॉर्ड उत्पादन किया है लॉकडाउन से भले ही देश की इकोनॉमी तबाह हो गई हो, कई सेक्टर को भारी नुकसान हुआ हो, लेकिन गन्ना उत्पादन के लिए तो यह मिठास बढ़ाने वाला ही साबित हुआ है। मई के अंत तक देश में गन्ना उत्पादन 268.21 लाख टन का हुआ जो अनुमान से अधिक है. उत्तर प्रदेश में रिकॉर्ड उत्पादन हुआ है।
गौरतलब है कि लॉकडाउन के बीच भी गन्ना मिल जैसे कुछ उद्योग लगातार चलते रहे. अभी भी करीब 18 चीनी मिलें शुगरकेन क्रशिंग कर रही हैं. देश में निजी चीनी मिलों के शीर्ष संगठन इंडियन शुगर मिल्स एसोसिएशन (इस्मा) ने मंगलवार को कहा कि इस साल के गन्ना पेराई सीजन 2019-20 (अक्टूबर-सितंबर) में चीनी का उत्पादन 270 लाख टन हो सकता है। इससे पहले इस्मा ने इस साल 265 लाख टन चीनी का उत्पादन होने का अनुमान जारी किया था। हालांकि यह अनुमान एक साल पहले के मुकाबले 60 लाख टन या 18 फीसदी कम ही है।
आज तक पर प्रसारित एक रिपोर्ट के अनुसार असल में लॉकडाउन के बीच चीनी का बेहतर उत्पादन होने की वजह यह है कि देश के सबसे बड़े उत्पादक राज्य उत्तर प्रदेश के गुड़ और खांडसारी उत्पादकों का कामकाज बंद था. इसकी वजह से गन्ना पूरी तरह से शुगर क्रशिंग मिलों को जा रहा था। देश में चीनी के सबसे बड़े उत्पादक उत्तर प्रदेश में 31 मई तक 125.46 लाख टन चीनी का उत्पादन हो चुका है जोकि पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 7.65 लाख टन ज्यादा होने के साथ-साथ प्रदेश में अब तक का रिकॉर्ड उत्पादन है. उत्तर प्रदेश में 14 चीनी मिलें अभी भी चालू हैं जबकि देशभर में 18 मिलों में उत्पादन चल रहा है।

बाजार पर असर, कीमतों पर बनेगा दबाव

लाॅकडाउन के चलते बाजार में चीनी की मांग कम ही है। आइसक्री, कोल्डड्रिंक, मिठाई, शादी-विवाहों के कार्यक्रम लगभग बंद है। इधर उत्पादन बढ़ने के साथ ही मिलों पर उसकी सेल का दबाव बढ़ेगा। बाजार के जानकारों का मानना है कि इसका सीधा असर बाजार में कीमतों पर पड़ेगा। अगले कुछ दिनों में चीनी की कीमत कुछ कम हो सकती है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments