Thursday, August 18, 2022
Homeडिवाइन (आध्यात्म की ओर)मथुरा - श्रावण मास के तीसरे सोमवार को शिवालयों में उमड़ा जनसैलाब

मथुरा – श्रावण मास के तीसरे सोमवार को शिवालयों में उमड़ा जनसैलाब

रिपोर्ट – राजेश सोलंकी
श्रावण मास में आने वाले सोमवार का दिन भोलेनाथ का महत्वपूर्ण दिन होता है। इस दिन माता बहने पुरुष बच्चे सभी व्रत रहकर शिव की पूजा अर्चना करते हैं जिसमें बिल्वपत्र, भांग, धतूरा, फल, एवं फूलों से भगवान का भोग लगाया जाता है। इसी के चलते सावन के तीसरे सोमवार के दिन शहर कोतवाल कहे जाने वाले बाबा भूतेश्वर मंदिर में भक्तों ने सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए पूजा अर्चना की तो वही कृष्ण जन्म स्थान के समीप महाविद्या कॉलोनी में बने गल्तेश्वर मंदिर में भी भक्तों ने पूजा-अर्चना की, मंदिर में सेवायतों के द्वारा पूजा अर्चना करने वालों के लिए विशेष सुविधा भी की गई। कोविड-19 के चलते लोगों में कितनी भी दहशत हो लेकिन पूरे ब्रज मंडल के मंदिरों में भगवान शिव के जयकारे गूंज रहे हैं।

महावन – चिंताहरण महादेव पर उमड़ा शिव भक्तों का जन सैलाब

रिपोर्ट – राजेश डब्बू
श्रावण मास के तीसरे सोमवार को प्रातःकाल से ही शिव मंदिरों में शिव भक्तों का सैलाब दिखाई दिया, सुबह से ही सभी मंदिरों में जय शिव शंकर भोले शिव शंभू के नारे गूंजते रहे और सभी हर-हर महादेव के बीच अपना जल दूध अभिषेक करते रहे, महावन स्थित चिंता हरण महादेव मंदिर पर सुबह से ही शिव भक्तों की लाइन मंदिर के बाहर लगी रही तो वहीं मंदिर के अंदर भक्तों द्वारा शिव जी की आराधना की गई और उन पर दूध जल बिल्वपत्र, फूल फल चढ़ा कर अपनी-अपनी मनौती मांगी, इस दौरान सभी महिला पुरुष बच्चे बुजुर्ग शिव भक्ति में लीन नजर आए, श्रावण मास में शिव भक्ति करने से भगवान शिव प्रसन्न होकर भक्तों की मनोकामना पूर्ण करते हैं, ऐसा मानना है चिंताहरण महादेव के महंत भोले बाबा का, जिन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि इस सोमवार पर जो भी जल अभिषेक करेगा उसके मन की मनोकामना अवश्य पूर्ण होगी।

बरसाना – श्रावण मास में शिव मंदिरों में उमड़े भक्त

रिपोर्ट – राघव शर्मा
एंकर – श्रावण मास के तीसरे सोमवार को प्रातः से ही फिर मंदिरों में शिव भक्तों की भीड़ दिखाई देने लगी सुबह से ही मंदिरों में बम बम भोले के नारे गूंजते रहे और तभी हर हर महादेव के जय कारे लगाने लगे वही जल दूध अभिषेक करते रहे ऐसा ही दृश्य देखने को मिला नंदगांव और बरसाना के शिव मंदिरों में, जहां सुबह से ही शिव भक्तों की लाइन मंदिरों के बाहर लगी रही तो वही मंदिर के अंदर भक्तों द्वारा शिवजी की फूलमाला चढ़ाकर दूध दही से अभिषेक कर अपनी अपनी मनोकामना सभी भक्तों ने मांगी, इस दौरान सभी महिला पुरुष बच्चे बुजुर्ग शिव मंदिर में अपनी भक्ति में लीन नजर आए।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments