Friday, August 19, 2022
Homeविजय गुप्ता की कलम सेभाभीजी मंजरी देवी हो गईं लाल पीली

भाभीजी मंजरी देवी हो गईं लाल पीली

रिपोर्टः- विजय कुमार गुप्ता

मथुरा। एक सीधी-साधी बुजुर्ग महिला द्वारा भूलचूक और अनजाने में मेरी पत्नी से यह कहा जाना कि आपके हसबैंड तो एक्सपायर हो गऐ, ऐसे बबंडर का रूप ले चुका है कि थमने में ही नहीं आ रहा। एक ओर जहां सभी लोग इसे हास परिहास में ले रहे हैं और कह रहे हैं कि आपकी तो उम्र बढ़ गई।
वहीं दूसरी ओर विपक्ष में केवल एक वोट है। वह हैं हमारी भाभी जी मंजरी देवी जो कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की नाक के बाल और चीफ सेक्रेटरी का दर्जा प्राप्त गृहस्थ के संत शैलजाकांत मिश्र की धर्मपत्नी जो देश के एक प्रमुख अंग्रेजी दैनिक शायद नेशनल हैराल्ड में एडीटर भी रह चुकी हैं। मंजरी देवी जी को यह बात बड़ी नागवार गुजरी और वे लाल-पीली हो रहीं हैं। यह बात मुझे तब पता चली जब आज प्रातः मेरी संत शैलजाकांत जी से फोन पर वार्ता हो रही थी तब मंजरी जी की तेज आवाज सुनाई दे रही थी। मैंने पूछा कि मिश्रा जी भाभी जी कुछ कह रही हैं क्या? इस पर मिश्रा जी ने जो बताया उसका सार यह था कि उन्होंने मेरे एक्सपायर होने वाली बात को गम्भीरता से लिया और वह बहुत गुस्से में हैं।
वहीं दूसरी ओर इस खबर के अखबार व्हाट्सएप और फेसबुक के द्वारा सोशल मीडिया पर फैलते ही देश के विभिन्न भागों में रह रहे हमारे शुभचिंतक व रिश्तेदार आदि लोग इसे हास परिहास और उम्र बढ़ने के रूप में ले रहे हैं। ये लोग फोन करके व्हाट्सएप या फेसबुक के द्वारा मैसेज भेज कर मेरे लिए इस समाचार को शुभ और उम्र बढ़ाने वाला बता रहे हैं।
उत्तर प्रदेश जल निगम के चेयरमैन तथा पूर्व में राज्यपाल के प्रमुख सचिव एवं मथुरा के पूर्व जिलाधिकारी गोपबंधु पटनायक ने फोन करके कहा है कि जिस व्यक्ति की मृत्यु की खबर उसके जीते जी गलती से फैलती है। वह अपने जीवन में एक दशक और जोड़ लेता है। श्री पटनायक भी गृहस्थ के सच्चे संत हैं। वे मथुरा के इतिहास में एक दुर्लभ जिलाधिकारी के रूप में माने जाते हैं। उन्होंने मेरे लिए सुखी, सुरक्षित और दीर्घायु होने की कामना ईश्वर से की है।
वर्तमान में अरुणाचल प्रदेश के कैबिनेट सचिव, पूर्व में अरुणाचल प्रदेश के चीफ सेक्रेट्री गृहमंत्री राजनाथ सिंह के सलाहकार एवं मथुरा के जिलाधिकारी रह चुके डाॅ. हरिकृष्ण पालीवाल का भी आज फोन आया। उन्होंने भी इस खबर को सोशल मीडिया पर देखा। डाॅ. पालीवाल ने भी मेरे दीर्घायु होने की कामना करते हुए स्नेह वर्षा की। वे भी मथुरा के ऐसे जिलाधिकारी रहे जिन्हें लोग आज भी याद करते हैं। इसी प्रकार अनेक स्नेहीजनों ने इस खबर को हास परिहास और मनोरंजन का जरिया बनाते हुए चटकारे भी लिये।
और तो और हमारी धर्मपत्नी ने भी इस बात का तनिक भी बुरा नहीं माना तथा इस प्रसंग के छिड़ते ही उनके चेहरे पर हंसी दिखाई देती है। अब तो मैं भी इस बात से प्रफुल्लित हो रहा हूं कि चलो भाई इतने लोगों की शुभकामनाऐं मिल रहीं हैं तथा ब्याज में उम्र और बढ़ गई। आम के आम और गुठलियों के दाम।
खैर जो भी हुआ अच्छा हुआ अब रही बात भाभी जी मंजरी देवी के लाल पीला होने की। उसका मूल कारण यह है कि शैलजाकांत जी और उनका स्नेह व आशीर्वाद मैं और मेरे परिवार के ऊपर तीन दशक से भी ज्यादा समय से है। यही कारण है कि वह उम्र बढ़ने के मेरे लाभ तक पहुंच ही नहीं पा रहीं। उन्हें तो केवल अपने देवर के एक्सपायर होने की लाइन मछली की आंख की तरह ही दिखाई दे रही है। मैं उनके स्नेह व आशीर्वाद को सादर नमन करता हूं जो मुझे इतना प्यार दे रहे हैं। सबसे ज्यादा उन बुजुर्ग और सीधी-साधी भद्र महिला का आभारी हूं, जिनके कारण मुझे इतने लोगों का प्यार मिला। ईश्वर से प्रार्थना है कि वे सदा सुहागिन रहें। उनके बच्चे, नाती, पोते आदि सभी परिवारीजन हमेशा सुख शांति में रहें।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments