Tuesday, August 9, 2022
Homeजुर्मडाक्टर निर्विकिल्प अपहरण कांड का एक और सच, आखिर वो पांचवा शख्स...

डाक्टर निर्विकिल्प अपहरण कांड का एक और सच, आखिर वो पांचवा शख्स कौन था, जिसका पुलिस ने नहीं किया जिक्र

मथुरा। चर्चित डॉक्टर निर्विकल्प अग्रवाल अपहरण कांड ने देश भर में यूपी पुलिस की किरकिरी करा दी है, तो मथुरा पुलिस की वर्दी पर ऐसा दाग लगा दिया है जिसके साफ होने में लंबा समय गुजर जाएगा। बहरहाल इस सनसनीखेज अपहरण कांड का एक और सच आपको हैरत में डाल देगा।
अपहरण की दहशत से निकलने के बाद पीड़ित चिकित्सक ने अपने खास चिकित्सक दोस्तों को ये दास्तां सुनाई। इस पूरे घटनाक्रम में एक बात है जिसका जिक्र तत्कालीन एसएचओ जगदंबा सिंह ने अपनी दर्ज कराई रिपोर्ट में नहीं किया। इस रिपोर्ट में उन्होंने सन्नी पुत्र देवेंद्र मलिक निवासी सैनिक विहार कॉलोनी कंकड़खेड़ा मेरठ, महेश पुत्र रघुनाथ, अनूप पुत्र जगदीश निवासी कोलाहर नौहझील और नितेश का जिक्र किया। जबकि विश्वसनीय सूत्र बताते है कि जब अपहरणकर्ताओं ने डाक्टर को उसकी गाड़ी में डाल लिया तो उन्होंने चिकित्सक से उसका परिचय पूछा। यानि एक बार बदमाशों को भी इस बात की गफलत हुई कि उन्होंने कहीं किसी गलत आदमी का तो अपहरण नहीं कर लिया है। इस पर उन्होंने डाक्टर से उनका पूरा परिचय, उनके घर, हाॅस्पीटल, प्रेक्टिस के स्थानों की जानकारी ली। ये जानकारी उन्होंने फोन पर किसी शख्स को दी। उसी शख्स ने करीब दस मिनट बाद बदमाशों को बताया कि जिसका अपहरण हुआ है वो सही है। बड़ा सवाल ये है कि आखिर इस कांड का मास्टर माइंड कौन है। पुलिस संदेह के घेरे में इसलिए है कि जब उसने बदमाशों की काॅल डिटेल, सीडीआर निकलवा ली तो रिपोर्ट में उस पांचवे शख्स का जिक्र क्यों नहीं किया। इस मास्टर माइंड को लेकर चिकित्सक भी परेशान है और तरह-तरह की चर्चाएं फिजां में तैर रही है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments