Friday, August 19, 2022
Homeन्यूज़जनपद की प्रत्येक छोटी बड़ी मस्जिद में की गई ईद उल अजहा...

जनपद की प्रत्येक छोटी बड़ी मस्जिद में की गई ईद उल अजहा की नमाज अता

सोशल डिस्टेंस का हुआ पालन, मुस्लिम समाज ने एक दूसरे को दी मुबारकबाद
सुरक्षा के रहे पुख्ता इंतजाम, चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल रहा तैनात

रिपोर्ट – दीपक चतुर्वेदी बैंकर/राजेश सोलंकी

मुस्लिम समाज का ईद उल अजहा का पवित्र पर्व भारी सुरक्षा व्यवस्था के मध्य शहर में शांतिपूर्वक संपन्न हुआ इस दौरान शहर की शाही मस्जिद ईदगाह एवं चौक बाजार स्थित जामा मस्जिद के अलावा अन्य मस्जिदों में सीमित संख्या में मुअज्जिद लोगों ने नमाज अदा की, शहर के मुख्य नमाज स्थल शाही मस्जिद ईदगाह पर कोविड-19 के चलते इस बार सन्नाटा पसरा रहा वही मुख्य नमाज स्थल डीग गेट पुलिस चौकी की सड़कें खाली नजर आई, इस दौरान नगर मजिस्ट्रेट मनोज कुमार सिंह पुलिस अधीक्षक अपराध राधेश्याम राय सहित पुलिस प्रशासन के आला अधिकारी मौजूद रहे चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल और खुफिया इकाई के जवान भी मुस्तैद देखे गए, कोविड-19 के चलते इस बार मस्जिदों में नमाज अता नहीं हो सकी जिसके चलते मुस्लिम समाज के महिला और पुरुषों द्वारा अपने घरों में नमाज अता कर एक दूसरे को गले मिलकर मुबारकबाद दी, नमाज को लेकर मुस्लिम समाज से जुड़ी कंजूमर फोरम जुडिशियल मेंबर सूफिया अखलाक ने सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए नमाज अता करने की बात कही।

वृन्दावन – ईद उल अजहा त्यौहार सादगी के साथ मनाया गया
रिपोर्ट – अरुण यादव
ईद उल अजहा त्यौहार धर्म नगरी वृन्दावन में भी सादगी के साथ मनाया गया। ईद के मौके पर मुस्लिम भाइयों का उत्साह देखते ही बन रहा था। जहां उन्होंने कोरोना महामारी के कारण सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए मस्जिद में इमाम सहित करीब आधा दर्जन लोगों ने ही नमाज अता की तथा समाज के अन्य लोगों ने अपने घरों में रहकर नमाज अता कर अल्लाहताला से देश में भाईचारा व अमन-चैन की दुआ मांगी। नमाज के बाद सभी ने एक-दूसरे को त्यौहार की मुबारकबाद पेश की। साथ ही घरों में रहकर ही कुर्बानी की गई। वहीं त्यौहार को देखते हुए सुरक्षा की दृष्टि से भारी पुलिसबल तैनात रहा। यहां तक कि स्वयं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉक्टर गौरव ग्रोवर ने स्वयं नगर भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया तथा लोगों से कोविड-19 के नियमों का पालन करने के निर्देश दिए।

कोसीकला – प्रशासन की व्यवस्थाओं के बीच घर और मस्जिदों में पढ़ी गई ईद की नमाज

रिपोर्ट – नरेन्द्र सिंघल
शनिवार के दिन कस्बा कोसीकला छाता में बकरीद का पर्व शांतिपूर्ण माहौल में प्रशासन की व्यवस्थाओं के साथ मनाया गया। कस्बा कोसीकला एवं छाता के मुस्लिम समुदाय के लोगो ने कोविंड 19 के तहत सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के निर्देशन पर अपने अपने घरों पर ईद की नमाज अदा की। वही मस्जिदों के मौलाना एवं मस्जिदों के क्षेत्रों में रहने वाले सभ्रांत नागरिकों ने मस्जिदों में ईद की नमाज पढ़ी गयी। इस दौरान मुस्लिम समुदाय के लोगो मे एक साथ आपसी प्रेम और शोहर्द का वातावरण देखने को मिला। पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था के बीच पढ़ी गयी ईद की नमाज के बाद दोनों ही समुदायों के लोगो ने एक दूसरे से गले मिल ईद की बधाई दी। बकरीद के पर्व को इल उल जुहा के नाम से भी जाना जाता है।

इस पर्व को निकासा क्षेत्र एवं मस्जिद क्षेत्रों वाली इलाकों में नगर पालिका परिषद की अधिशासी अधिकारी पूर्णिमा दुबे एवं पालिका अध्यक्ष और कार्यवाहक अधिकारी योगेंद्र शर्मा के द्वारा साफ सफाई एवं मीठे पानी की पर्याप्त व्यवस्था की गई। जिसकी लोगों ने काफी प्रशंसा की।  बकरीद के त्यौहार को लेकर नमाज अदा कराने वाले मौलाना जर्रार ने त्यौहार के बारे में जानकारी दी।

महावन – प्रशासन व पुलिस की व्यवस्थाओं के बीच ईद की नमाज अता की गई
रिपोर्ट – राजेश डब्बू
शनिवार के दिन कस्बा महावन में बकरीद का पर्व शांतिपूर्ण माहौल में प्रशासन की व्यवस्थाओं के साथ मनाया गया। कस्बा में मुस्लिम समुदाय के लोगो ने कोविंड 19 के तहत सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के निर्देशन पर अपने अपने घरों पर ईद की नमाज अता की। वही मस्जिदों के मौलाना एवं मस्जिदों के क्षेत्रों में रहने वाले सभ्रांत नागरिकों ने मस्जिदों में ईद की नमाज पढ़ी गयी। इस दौरान मुस्लिम समुदाय के लोगो मे एक साथ आपसी प्रेम और सौहार्द का वातावरण देखने को मिला। पुलिस की सुरक्षा व्यवस्था के बीच पढ़ी गयी ईद की नमाज के बाद दोनों ही समुदायों के लोगों ने एक दूसरे से गले मिल ईद की बधाई दी। बकरीद के पर्व को इल उल जुहा के नाम से भी जाना जाता है। ईद-उल फितर के करीब 70 दिन बाद बकरीद मनाया जाता है, मुस्लिम सामज यह त्यौहार कुर्बानी के पर्व के तौर पर मनाते हैं, मुस्लिम मान्यताओं के अनुसार यह त्यौहार लोगों को प्रेम भाव के साथ सच्चाई की राह पर सबकुछ कुर्बान करने का संदेश देता है। इस पर्व को निकासा क्षेत्र एवं मस्जिद क्षेत्रों वाली इलाकों में नगर पंचायत महवान की और से बकरीद के त्यौहार को मद्दे नजर रखते हुए प्रशासन के द्वारा कस्बे में पुलिस की चाक-चौबंद व्यवस्था की गई।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments