Friday, August 19, 2022
Homeन्यूज़144 ग्राम पंचायतों सर्वे 03 दिन में कराकर रिपोर्ट प्रस्तुत करें-सीडीओ

144 ग्राम पंचायतों सर्वे 03 दिन में कराकर रिपोर्ट प्रस्तुत करें-सीडीओ

पंचायत भवन निर्माण गुणवत्ता के साथ कार्य शुरू किया जाये
मथुरा 21 अगस्त/ मुख्य विकास अधिकारी डाॅ0 नितिन गौड़ ने राजीव भवन के सभागार में ग्राम पंचायतों में वित्त आयोग एवं मनरेगा कन्वर्जेस के माध्यम से पंचायत भवन का निर्माण कराये जाने की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि जिन ग्राम पंचायतों में वित्त आयोग के धनराशि की उपलब्धता पर्याप्त नहीं है, उन ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन निर्माण हेतु 50 प्रतिशत धनराशि का वहन मनरेगा से किया जायेगा। उन्होंने बताया कि पंचायत भवन निर्माण की गतिविधि मनरेगा की कार्यसूची में सम्मिलित है।
डाॅ0 गौड़ ने जिला पंचायत राज अधिकारी एवं खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि जिन ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन नहीं बना है, उन ग्रामा पंचायतों की सूची सर्वे कर 03 दिन में उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें, जिससे पंचायत भवन निर्माण कार्य शीघ्र प्रारंभ किया जा सके। उन्होंने कहा कि इस कार्य में लापरवाही करने वाले अधिकारी एवं कर्मचारियों के विरूद्ध कार्यवाही अमल में लायी जायेगी।
इसी प्रकार जिला पंचायत राज विभाग द्वारा बनाये जा रहे सार्वजनिक शौचालयों का कार्य गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराना सुनिश्चित करें, यदि कंही कोई समस्या आ रही है, तो संबंधित विकास खण्ड अधिकारी के माध्यम अवगत करायें। उन्होंने कहा कि यदि ग्राम पंचायत में जमीन नहीं है इस कार्य के लिए तो ग्राम पंचायतों बने सरकारी स्कूलों की सहायता लेकर वहां शौचालयों का निर्माण कराया जाये।
सीडीओ को जिला पंचायत राज अधिकारी प्रीतम सिंह ने जानकारी देते हुए बताया है कि शहजादपुर, जादौपुर, सराय दाउद, गोंठा, नवीपुर बांगर, फतहपुरा, मडौरा, कान्जौली, बरोली, जगसना विकास खण्ड बल्देव में 11 ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन नहीं है। इसी प्रकार सकना, न0 बौहरा, शाहपुर जाटान, शाहपुर चैनपुर, जुल्हेंदी, भदाल, बढ़ौता विकास खण्ड मथुरा में 07 ग्राम पंचायतों में भवन नहीं है। दुनैटिया, वकला, पीरी, कुडवारा, कल्याणपुर, न0 हिमांयु, जहांगीरपुर, सूरज, डडीसरा, डांगौली, विवाबली, तेहरागांट, नीमगांव विकास खण्ड मांट में 14 ग्राम पंचायतों में भवन नहीं हैं। मूरजा, सारस, नगला हरी, सौर, तेहरा महावन, बना, थोक कमल, भंकरपुर बेसला, गजू, अचरूलधौरा, कारव विकास खण्ड राया में 11 ग्राम पंचायतों में भवन नहीं है।
इसी प्रकार आजनौठ, चैडरस, आदमपुर, खानपुर, ओवा बांगर, अलवाई, गुलालपुर, उमराया, महरोली, रूपनगर, धनोता, मझोई, घमसींगा, सांखी, ऐंच, गोहारी, गुहेता 10 विसा, कराहरी, भोरनगर, आजनोख, भदावल, उझानी, बहरावली, हुसैनी, रनवारी, छाता देहात विकास खण्ड छाता में 27 ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन नहीं हैं। शहदपुर, ततारपुर, डाहरौली, देवपुरा, डिरावली, बाजना, भरतिया, रहेड़ा, पसौली, नरी, अकबरपुर, सैमरी, अगरयाला, सेही बांगर विकास खण्ड चैमुहां में 14 ग्राम पंचायतों में भवन नहीं हैं तथा चैकीपुरा कलां, गांजौली, शहजादपुर गूजर, गढी रामबल, मलिकपुर, मेघपरु, मिर्जापुर, ब्राह्मणान, सरूरपुर, रौसू जलाल, आॅवला सुल्तानपुर, खेड़िया, पिपरौठ, मुर्शिदपुर, बरौदा मशरकपुर, नगला अबुआ, पीलुआ सादिकपुर, भदाया, धर्मपुरा, चुरमुरा पौरी, भुडरसू, भदेरूआ, परखम, पींगरी एवं भाहई विकास खण्ड फरह में 23 ग्राम पंचायतों में पंचायत भवन बने हुए नहीं हैं। इन ग्राम पंचायतों का सर्वे कर जिन ग्राम पंचायतों धनराशि उपलब्ध है, उन ग्राम पंचायतों शीघ्र कार्य किया जाये और जिन ग्राम पंचायतों धनराशि कम उपलब्ध है, तो वह मनरेगा से धनराशि की मांग कर पंचायत भवनों का निर्माण कायों को शुरू किया जाये।
बैठक में पीड़ी बलराम सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी प्रीतम सिंह, सभी विकास खण्ड अधिकारी, ग्राम पंचायत सचिव, इंजीनियरगण उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments