Monday, April 22, 2024
Homeन्यूज़जीएलए को बड़ी उपलब्धि 170 विद्यार्थी कैपजेमिनी में चयनित-जीएलए के सत्र 2023-24...

जीएलए को बड़ी उपलब्धि 170 विद्यार्थी कैपजेमिनी में चयनित-जीएलए के सत्र 2023-24 के 170 विद्यार्थियों को कैपजेमिनी में मिला रोजगार का बड़ा अवसर

मथुरा। अगर हौसले बुलंद हों तो किसी भी सफलता के मुकाम को हासिल करना कोई कठिन काम नहीं है। इन्हीं हौसलों के बलबूते जीएलए विश्वविद्यालय, मथुरा के 170 विद्यार्थियों ने गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का भरोसा जताकर दिग्गज कंपनी कैपजेमिनी में बड़ी उपलब्धि हासिल की है।

विदित रहे कि छात्रों के जीवन की एक नई पारी जीएलए विश्वविद्यालय से शुरू होती है, जहां छात्र ईमानदार प्रयासों के साथ स्वयं को श्रेष्ठ साबित करते हुए करियर को नई ऊंचाई देता है। विश्वविद्यालय छात्रों के ईमानदार प्रयासों में सहयोग के लिए सदैव तत्पर है। यहां छात्रों के सर्वांगीण विकास हेतु उत्कृष्ट शिक्षा के साथ-साथ परिश्रम, अनुशासन, कर्त्तव्य निष्ठा एवं टीम वर्क जैसे गुणों के विकास पर भी ध्यान दिया जाता है और निश्चित ही इस सफलता का श्रेय छात्रों व शिक्षकों की कड़ी मेहनत, परिश्रम और लगन को जाता है।

विश्वविद्यालय के प्लेसमेंट की बात करें तो आईटी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी कैपजेमिनी ने जीएलए विश्वविद्यालय में पिछले आठ वर्षों के अपने प्लेसमेंट रिकॉर्ड में बढ़त दर्ज करते हुए इस बार उच्चतम पैकेज पर 170 विद्यार्थियों को रोजगार प्रदान किया है। कोर कंपनी में रोजगार पाकर बीटेक कम्प्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग एवं एमसीए के विद्यार्थी ख़ुशी से झूम उठे हैं।

चयनित छात्रा प्राची अग्रवाल ने बताया कि विश्वविद्यालय में विद्यार्थियों को शुरूआती चरण से कंपनी के हायरिंग नजरिए को ध्यान में रखते हुए टिप्स की मदद, नए काम को सीखने के तरीके, एप्टीट्यूड, इनोवेटिव स्किल्स की परख, इंडस्ट्री के हालात एवं अन्य जानकारियां विषय-विशेषज्ञों के माध्यम से दी जातीं हैं। जिस कारण छात्रों को कंपनियों में सिलेक्शन के दौरान आत्मविश्वास इतना अधिक मजबूत हो जाता है कि विफलता कहीं दूर-दूर तक नहीं टिकती।

ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट विभाग के सीनियर वाइस प्रेसीडेंट कॉरपोरेट रिलेशन दीपक कुमार ने बताया कि छात्र-छात्राओं ने यह मुकाम यूं ही हासिल नहीं किया। इससे पहले छात्रों ने चार चरणों में हुए कडे़ साक्षात्कार और ऑनलाइन परीक्षा से गुजरते हुए इस मुकाम पर पहुंचे। प्रथम चरण और दूसरे चरण में इंग्लिश स्पीकिंग और टेक्निकल एमसीक्यू टेस्ट हुआ। इसके बाद कोडिंग असेसमेंट, स्पोकन इंग्लिश असेसमेंट और टेक्निकल इंटरव्यू हुआ। तत्पश्च्यात 170 छात्रों के चयन की घोषणा हुई। चयनित सभी छात्र अपना कोर्स पूर्ण करने के पश्च्यात नौकरी करेंगे।
प्लेसमेंट की गति को रफ्तार देने वाले जीएलए के सीईओ नीरज अग्रवाल ने विश्वविद्यालय के चयनित छात्रों को शुभकामनायें देते हुए कहा कि विश्वविद्यालय में प्रतिवर्ष 500 से अधिक कंपनियां कैंपस प्लेसमेंट के लिए आती हैं। जीएलए प्लेसमेंट का हब बन चुका है। जीएलए एक ही ध्येय पर लगा हुआ है कि ‘एक भी बच्चा छूटा, प्लेसमेंट चक्र टूटा‘ यानि शत-प्रतिशत विद्यार्थियों को रोजगार दिलाने का लक्ष्य लेकर प्रतिवर्ष विश्वविद्यालय आगे बढ़ रहा है। जो विद्यार्थी चयनित नहीं हो पाये हैं ऐसे छात्र हिम्मत न हारकर कड़ी मेहनत पर ध्यान दें। विश्वविद्यालय की तरफ से छात्रों को कई और भी मौके मिलेंगे। विद्यार्थियों को लर्निंग कैपेसिटी, एप्टीट्यूड, इनोवेटिव और आत्मविश्वास की जरूरत है, जिसके ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट की टीम पुरजोर तरीके से जुटी हुई है।

सीईओ ने कैपजेमिनी के सीनियर डायरेक्टर टेलेंट एक्वीजिसन पुनीत कुमरा, प्रोग्राम मैनेजर सौरव नारायण विष्वास, सीनियर कंसल्टेंट नेहा कौल के साथ विश्वविद्यालय की ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट तथा ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट टीम सहित सभी षिक्षकों को इस उपलब्धि हेतु धन्यवाद दिया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments