Thursday, May 30, 2024
Homeन्यूज़मथुरा की आनंदपुरी कॉलोनी में 3 दिन से बिजली नहीं, हवा-पानी को...

मथुरा की आनंदपुरी कॉलोनी में 3 दिन से बिजली नहीं, हवा-पानी को तरसे लोग

  • 3 दिन से बिजली न होने के कारण पानी को तरसे लोग, स्कूल भी नहीं गए बच्चे
  • JE रवि मौर्या को लोगों के फ़ोन उठाने में हो रही दिक्कत, ये अधिकारी हैं या लाट साहब!

मथुरा : शहरी क्षेत्र में आये दिन बिजली के हाल ए बेहाल नजर आ रहे हैं। लेकिन विद्युत अधिकारी आंख बंद किए हुए हैं। विद्युत अधिकारियों के निरीक्षण की बात तो बहुत दूर की है, आने वाली शिकायतों पर भी कोई नजर नहीं है। पिछले तीन दिनों से बीएसए कॉलेज से राधिका विहार रोड़ पर आनंदपुरी कॉलौनी में बिजली न होने के कारण हवा-पानी के लिए लोग तरस गए और बच्चे स्कूल तक नहीं गए।

शहर के बीएसए कॉलेज से राधिक विहार रोड़ पर स्थित आनंदपुरी कॉलौनी के गली नं 3 में पिछले तीन दिनों से विद्युत आपूर्ति ठप पड़ी हुई है। इस कारण करीब 100 घर अंधेरे में डूबे हुए हैं। बिजली न होने के कारण घर में पानी नहीं है। भीषण गर्मी के कारण लोगों का हाल ए बेहाल है।
स्थानीय सचिन कुमार चित्ताड़िया ने बताया कि पिछले तीन दिनां से करीब 100 घरों में बिजली न होने के कारण सब कुछ अस्त व्यस्त हो गया है। पीने के पानी से लेकर नहाने तक की कोई व्यवस्था नहीं है। उन्होंने बताया कि पिछले तीन दिनों से उनके बच्चे भी स्कूल नहीं गए हैं। इसका मुख्य कारण बिजली न होना है। इन्वर्टर ठप पड़ गए हैं। रात की नींद भी हराम हो गई है।

उन्होंने बताया कि तीन दिनों से आनंदपुरी कॉलोनी की गली नं3 को अंधेरे में डूबे होने की शिकायत उन्होंने एसडीओ रमेश सोनी को फोन पर की। जेई रवि मौर्य को फोन किया तो, उन्होंने किसी का फोन तक उठाना मुनासिब नहीं समझा। एसडीओ से बात होने के बाद भी समस्या का कोई समाधान तक नहीं हुआ। एसडीओ द्वारा शिकायतकर्ता को लाइनमैन न होने की बात कह कर फोन काट दिया।

इसके बाद सचिन चित्तौडिया ने यूपीपीसीएल चेयरमैन से लेकर डीवीवीएनएल के एमडी एवं अन्य अधिकारियों को मेल तथा ट्वीट् किया एवं शहरी एक्शियन से फोन पर भी शिकायत दर्ज करायी।

स्थानीय एड. अवनीश उपाध्याय ने बताया कि विद्युत अधिकारियों की लापरवाही जनता पर भारी पड़ रही है। अगर समय से अधिकारी निरीक्षण करते रहे हैं तो, समस्याएं आना तो बहुत दूर की बात है, वह पास तक नहीं भटक सकतीं, लेकिन ऐसा नहीं है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments