Sunday, June 16, 2024
Homeन्यूज़न्यूज़बरसाना - राधा रानी के मंदिर के रास्तों पर 11 स्थानों पर...

बरसाना – राधा रानी के मंदिर के रास्तों पर 11 स्थानों पर बनेंगे आरओ प्लांट, शौचालय, बाथरूम

  • बरसाना राधारानी मंदिर के रोप वे का जल्द होगा लोड ट्रायल

रिपोर्ट राघव शर्मा

बरसाना । श्री राधारानी की नगरी बरसाना में उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद के तत्वावधान में माता जी गौशाला मान मंदिर सेवा संस्थान के सहयोग से संचालित राधा रसोई में प्रतिदिन सैकडों की संख्या में श्रद्धालु भोजन प्रसाद ग्रहण कर लाभ उठा रहे हैं। आज इस राधा रसोई का ब्रज तीर्थ विकास परिषद के सीईओ विप्रा उपाध्यक्ष एसवी सिंह व मथुरा— वृंदावन विकास प्राधिकरण के सचिव अ​रविद कुमार द्विवेदी और डिप्टी सीईओ जे पी पांडेय ने संयुक्त रूप से निरीक्षण किया।
ब्रज तीर्थ विकास परिषद के सीईओ ने इसका संचालन देख रहे कर्मचारियों व स्वयं सेवकों से कहा कि यहां अधिक से अधिक श्रद्धालुओं को नि:शुल्क भोजन की व्यवस्था कराई जाए। इसके लिए एक व्यक्ति यात्रियों से अनुरोध करने के लिए लाडलीजी मंदिर के रास्ते पर खडा किया जाए। यहां दोनों अधिकारियों ने राधाजी के दर्शन करने आने वाले श्रद्धालुओं को भोजन परोसा। भोजन में एकादशी व्रत का फलहार दिया गया। बाद में यही भोजन स्वयं पाया । यहां भोजन करने बाद यात्रियों ने बताया कि यह सरकार और मानमंदिर सेवा संस्थान का सराहनीय प्रयास है। इसका संचालन देख रहे मानमंदिर सेवा संस्थान के स्वयं सेवक हरिपद दास महाराज ने बताया कि राधा रसोई में प्रतिदिन सुबह आठ से दोपहर दो बजे तक और शाम को पांच से रात्रि आठ बजे तक भोजन कराया जाता हैं।
रविवार को दोपहर उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद के सीईओ व विप्रा उपाध्यक्ष एसवी सिंह व एमवीडीए के सचिव अ​रविंद कुमार द्विवेदी पत्रकारों के दल के साथ राधारानी की नगरी बरसाना में पहुंचे।उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद के सीईओ एवं विप्रा उपाध्यक्ष ने कहा कि कमिश्नर ऋतु माहेश्वरी मंशा है ब्रज के तीर्थ स्थल को बरसाना को विकसित किया जाए। उनके निर्देश पर उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद व एमवीडीए दोनों मिलकर प्रयासरत हैं। उन्होंने यहां सर्वप्रथम बरसाना में पीपीपी मॉडल पर बन रहे रोप वे का निरीक्षण किया। उसके बाद दोनों अधिकारियों ने लाडलीजी मंदिर में राधा जी के दर्शन किए। साथ ही मंदिर केगर्भग्रह की चौखट पर माथा टेक कर मनौती मांगी।
विप्रा उपाध्यक्ष ने पत्रकारों के दल को बताया कि बरसाना में आने वाले श्रद्धालुओं को धूप व वर्षा से बचाने केलिए सभी रास्तों पर टीन शेड की व्यवस्था की जा रही है। इसके अलावा मंदिर के रास्तों के 11 स्थान चिन्हित किए गए हैं। जिन पर वाटर कूलर, आरओ प्लांट, शौचालय बाथरूम, विश्राम स्थल आदि की व्यवस्था की जाएगी। इसके कार्य शीघ्र प्रारंभ हो जाएंगे। इसके गोवर्धन ड्रेन को ढका जाएगा। उंचागांव के दूसरे रास्ते को बनाया जाएगा। राधा बाग के समीप उस पर पुल का का निर्माण किया जाएगा। यहां अन्य कार्य विचाराधीन है। उन पर शीघ्र कार्य योजना तैयार हो रही है। विप्रा उपाध्यक्ष ने बताया कि बरसाना के रोप वे का कार्य प्रगति पर है। अब इसका 20—25 दिन लोड का ट्रायल हो होगा। उसके सफल होने पर इसको यहां आने वाले श्रद्धालुओं के लिए चालू करा दिया जाएगा। यहां के बाद विप्रा उपाध्यक्ष व ​सचिव दोनों गहवरवन रमेश बाबा महाराज से आशीर्वाद लेने पहुंचे। वहां संत ब्रजराज उर्फ सुनील सिंह ने मंदिर के निर्माण व अन्य जानकारी दीं।
निरीक्षण में उप्र ब्रज तीर्थ विकास परिषद के डिप्टी सीईओ जे पी पांडेय, परिषद के सहायक अभियंता आर पी यादव, दूधनाथ यादव, विप्रा के जेई सर्वेश गुप्ता, परिषद के कोर्डिनेटर चंद्र प्रताप सिंह सिकरवार आदि ने निरीक्षण किया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments