Thursday, July 25, 2024
Homeन्यूज़राजीव एकेडमी के सात एमबीए छात्र-छात्राओं ने भरी ऊंची उड़ान, इण्डियामार्ट कम्पनी...

राजीव एकेडमी के सात एमबीए छात्र-छात्राओं ने भरी ऊंची उड़ान, इण्डियामार्ट कम्पनी में उच्च पैकेज पर मिला सेवा का अवसर

मथुरा। राजीव एकेडमी फॉर टेक्नोलॉजी एण्ड मैनेजमेंट के सात एमबीए छात्र-छात्राओं ने अपने करियर में ऊंची उड़ान भरी है। शिक्षा पूरी करने से पहले ही इण्डियामार्ट कम्पनी के पदाधिकारियों ने छात्र-छात्राओं का बौद्धिक मूल्यांकन कर उच्च पैकेज पर सेवा का अवसर प्रदान किया। चयनित छात्र-छात्राओं ने इण्डियामार्ट कम्पनी में मिले इस शानदार अवसर का श्रेय संस्थान की उच्चस्तरीय शिक्षण व्यवस्था तथा प्राध्यापकों के मार्गदर्शन को दिया है।
संस्थान के ट्रेनिंग एण्ड प्लेसमेंट विभाग प्रमुख डॉ. विकास जैन के अनुसार विगत दिनों आयोजित कैम्पस प्लेसमेंट में इण्डियामार्ट कम्पनी के अधिकारियों द्वारा राजीव एकेडमी के एमबीए छात्र-छात्राओं का कई चरणों में बौद्धिक मूल्यांकन करने के बाद साक्षात्कार लिया गया। अंततः कम्पनी पदाधिकारियों ने सात छात्र-छात्राओं को चार-चार लाख रुपये के सालाना पैकेज पर आफर लेटर प्रदान किए। चयनित विद्यार्थियों में अभिषेक शर्मा, अंजली शर्मा, काजल दीक्षित, नन्दिनी अग्रवाल, रवि सिंह, रिति अग्रवाल और यश अग्रवाल शामिल हैं।
छात्र-छात्राओं को आफर लेटर प्रदान करने से पूर्व अधिकारियों ने बताया कि इण्डियामार्ट भारत का सबसे बड़ा ऑनलाइन बी2बी मार्केटप्लेस है, जो खरीददारों को आपूर्तिकर्ताओं से जोड़ता है। इण्डियामार्ट भारत में ऑनलाइन बी2बी क्लासीफाइड स्पेस के 60 फीसदी मार्केट शेयर के साथ, छोटे और मध्यम उद्यमों, बड़े उद्यमों के साथ-साथ व्यक्तियों को एक मंच प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित करता है। 1999 में स्थापित इस कम्पनी का मिशन व्यापार करना, आसान बनाना है।
आर.के. एज्यूकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल, उपाध्यक्ष पंकज अग्रवाल, प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल तथा संस्थान के निदेशक डॉ. अमर कुमार सक्सेना ने इण्डियामार्ट में चयनित छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए उज्ज्वल भविष्य की कामना की। डॉ. रामकिशोर अग्रवाल ने अपने संदेश में कहा कि मेहनत ही कामयाबी का मूलमंत्र है। जो विद्यार्थी जितनी अधिक मेहनत करेगा, वह उतना आगे जाएगा। छात्र-छात्राओं को मिले अवसरों का लाभ उठाना चाहिए। राजीव एकेडमी का यही प्रयास रहता है कि यहां अध्ययन करने वाला प्रत्येक विद्यार्थी स्वयं और राष्ट्र के विकास में योगदान देने वाला नागरिक बने।
संस्थान के निदेशक डॉ. अमर कुमार सक्सेना ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए चयनित छात्र-छात्राओं से भविष्य में और अधिक कठिन परिश्रम करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी जब अध्ययन शुरू करता है तो प्रबंधन का प्रारम्भिक ज्ञान प्राप्त करने के साथ ही उसी के अनुसार आगे बढ़ता है। डॉ. सक्सेना ने कहा कि शिक्षा पूरी करने से पहले ही करिअर के लिए जो प्लेटफार्म मिला है उसका छात्र-छात्राओं को अपनी लगन और मेहनत से अधिकाधिक लाभ उठाना चाहिए।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments