Thursday, July 25, 2024
Homeन्यूज़रेलवे द्वारा यात्रियों के लिए ‘रेल मदद’ ऐप की सुविधा दी जा...

रेलवे द्वारा यात्रियों के लिए ‘रेल मदद’ ऐप की सुविधा दी जा रही ।

आगरा मंडल में माह जून -2024 में रेल मदद ऐप पर 634 शिकायतों का 37 मिनट के औसत समय में तत्काल निस्तारण किया गया |

मंडल रेल प्रबंधक आगरा श्री तेज प्रकाश अग्रवाल के निर्देशन में रेलवे द्वारा यात्रियों के लिए ‘रेल मदद’ ऐप की सुविधा दी जा रही है। ट्रेन से जुड़ी शिकायतो पर रेल मदद ऐप व (एक्स)ट्विटर अकाउंट पर लगातार निगरानी रखी जा रही है ट्रेनों में सफर के दौरान यात्री रेल मदद ऐप की सहायता से मदद या फिर ट्रेन से जुड़ी शिकायत कर सकते हैं। इसमें ट्रेन में साफ-सफाई, पानी की उपलब्धता, बुजुर्ग यात्रियों को ऊपरी बर्थ की जगह नीचे वाली बर्थ, बुजुर्ग की दवाई, बच्चे को दूध या फिर किसी भी प्रकार की चिकित्सीय मदद ली जा सकती है। आगरा मंडल में माह जून – 2024 में 634 शिकायतों का 37 मिनट के औसत समय में तत्काल निस्तारण किया गया है |
आगरा मंडल यात्रियों को बेहतर सुविधाएं देने के लिए संकल्पित है। आगरा मंडल द्वारा कई उदाहरण चिन्हित किये है जैसे
उदाहरण- 1, एक यात्री ने हेल्पलाइन नं.-139 पर कॉल करके यात्रा के दौरान हुई असुविधा के सम्बन्ध में बताया जिस पर वाणिज्य नियंत्रक द्वारा कोच में कार्यरत टिकट जांच कर्मचारी को सूचित कर यात्री की समस्या का समाधान किया l
उदाहरण- 2, गाड़ी संख्‍या 12616 मे श्रीमती जयश्री अग्रवाल जिनकी यात्रा मथुरा जंक्शन से नागपुर जंक्शन तक थी जिनका मोबाइल एवं मोबाइल चार्जर भूलवश मथुरा जंक्शन के महिला प्रतिक्षालय में ही रह गया | जिसकी सूचना मिलने पर मथुरा जंक्शन पर कार्यरत उप स्‍टेशन प्रबंधक/वाणिज्‍य श्री आशीष कम्बोज ने त्वरित कार्यवाही करते हुए महिला प्रतिक्षालय में जाकर मोबाइल एवं मोबाइल चार्जर को खोजा एवं यात्री के परिजन को सकुशल सूपुर्द किया गया ।
उदाहरण-3, गाड़ी संख्‍या- 20404 के बी-4 कोच में एक बच्चा आर्यन कुमार उम्र-12 वर्ष घर से नाराज होकर उक्त गाड़ी में बैठ गया| जिसका पता उक्त गाड़ी में कार्यरत टीटीआई/मथुरा जं. श्री एस जी दुबे एवं कंडक्टर श्री एस एस शर्मा को चलने पर इन्होने मामले को तुरंत संज्ञान में लेते हुए मुख्य वाणिज्य नियंत्रक कानपुर को सूचित किया एवं उक्त बच्चे से उसके परिजन का नंबर लेकर उनको विडियो कॉल के माध्यम से बच्चे की पहचान कराई एवं बच्चे का उक्त गाड़ी में होना सुनिश्चित कराया| गाड़ी के कानपुर पहुंचने पर श्री जितेन्द्र कुमार हेड टीटी को मेमो के साथ बच्चे को सुपुर्द किया गया|
उदाहरण- 4, दिनांक 28.06.2024 को ”12547 आगरा छावनी साबरमती एक्सप्रैस के कोच S-4 की वाशबेसिन साफ ना होने” के संबंध में यात्री श्री साहिल गुप्ता द्वारा यात्रा करने के दौरान हुई असुविधा पर यात्री द्वारा मंडल रेल प्रबंधक, आगरा के (एक्स)ट्विटर अकाउंट पर शिकायत दर्ज की गई जिस संबंध में त्वरित कार्यवाई कर समस्या का समाधान रेलवे द्वारा तुरंत किया गया जिस पर यात्री द्वारा रेलवे को धन्यवाद दिया गया तथा OBHS कर्मचारीयो की प्रशंसा की गई।
उदाहरण- 5,- दिनांक 30.06.2024 को ”11905 होशियारपुर एक्सप्रैस के कोच A1 में बर्थ संख्या 23 RAC में यात्री आगरा से चंडीगढ़ तक यात्रा कर रहे थे कोच अटेंडेंट ने केवल एक बिस्तर और एक तकिया दिया और दूसरा तकिया/बिस्तर देने से इनकार कर दिया ” इसके संबंध में यात्री श्री मनीष द्वारा यात्रा करने के दौरान हुई असुविधा पर यात्री द्वारा मंडल रेल प्रबंधक, आगरा के (एक्स)ट्विटर अकाउंट पर शिकायत दर्ज की गई जिस संबंध में त्वरित कार्यवाई कर समस्या का समाधान रेलवे द्वारा तुरंत किया गया
तत्काल निवारण करना है उद्देश्य
रेलवे ऐप के जरिए ऑनलाइन सुविधाओं दे रही है, ताकि आसानी से शिकायतें पहुंच सके और उनका निवारण भी तत्काल किया जाए। रेल मदद ऐप के जरिए सफर के दौरान पानी, बिजली, सफाई सहित अन्य शिकायतें दर्ज कराई जा सकती हैं। इसके साथ ही किसी भी तरह की समस्या भी इस ऐप के जरिए कर सकते हैं। सुविधाएं मांगने या शिकायत करने के लिए जनरल डिटेल्स, घटना की तारीख, घटना स्थल, पर्सनल डिटेल, मोबाइल नम्बर और ई-मेल जैसी सूचनाएं देनी होंगी।

यात्रियों से मांगा जाता है फीडबैक
रेल मदद ऐप पर शिकायत या समस्या बताने पर रेलवे द्वारा उसका समाधान तत्काल किया जा रहा है। रेलवे ने हर समस्या के समाधान की समय सीमा भी निर्धारित की हुई है। निर्धारित समय में समाधान न होने पर वह शिकायत उच्च अधिकारी तक पहुंच जाती है। साथ ही समाधान की सूचना भी शिकायतकर्ता को देते हुए उससे फीडबैक भी लिया जाता है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments