Categories
न्यूज़

जीएलए रसायन विभाग के रिसर्चरों का पिगमेंट की मजबूती पर रिसर्च, पेटेंट ग्रांट


मथुरा। जीएलए विश्वविद्यालय, मथुरा के रसायन विभाग के रिसर्चरों ने सफेद पेन्ट 1⁄4पिगमेंट1⁄2 को चमकदार और सस्ता बनाने का नया तरीका खोजा है। काफी लंबे समय के रिसर्च के बाद सफलता हासिल हुई है। सफलता के बाद इस रिसर्च का पेटेंट भी ग्रांट हो चुका है।


सफेद पेन्ट 1⁄4पिगमेंट1⁄2 को दिवालों अथवा गाडियों सहित विभिन्न जगहों पर इस्तेमाल के बाद तय अवधि से पहले ही रंग बदला हुआ देखने को मिल सकता है और हल्के पीलेपन की स्थिति बन जाती है। सफेद पेन्ट की इस स्थिति को न आने देने तथा वस्तु को चमकदार बनाये रखने के लिए जीएलए विश्वविद्यालय, मथुरा के रसायन विभाग के रिसर्चरों ने टीआईओ2 पर रिसर्च कर सफलता पायी और पेटेंट पब्लिश कर ग्रांट कराया है।


रसायन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. प्रबल प्रताप प्रताप सिंह ने बताया कि सफेद पेन्ट को चमकदार बनाने के लिए टीआईओ2 पदार्थ का उपयोग किया जाता है। इस पदार्थ का अत्याधिक प्रयोग होने से इसकी उपलब्धता कम होती जा रही है। उपयुक्त समस्या को ध्यान में रखते हुए रसयान विभाग की टीम
ने इस दिषा में अनुसंधान किया। परिणाम स्वरूप टीआईओ2 का कम प्रयोग करते हुए ‘‘माइक्रोपार्टीकल्स ऑफ क्योलिन कोटेक टाइटेनियम ऑक्साइड‘‘ बनाया। डॉ. सिंह ने आगे बताया कि रसायन विभाग की रिसर्चर दीक्षा गुप्ता व सुष्मिता प्रमाणिक ने प्रो. पंचानन प्रमाणिक, विभागाध्यक्ष प्रो. डीके दास, प्रो. प्रबल प्रताप सिंह व डॉ. योगेन्द्र कुमार के पर्यवेक्षण में कार्य को सफलता पूर्वक पूर्ण किया।

डीन रिसर्च प्रो. अनिरूद्ध प्रधान एवं एसोसिएट डीन रिसर्च प्रो. कमल षर्मा ने बताया कि रसायन विभाग
के प्रोफेसरों द्वारा किया गया रिसर्च और उसका पेटेंट ग्रांट होना गर्व की बात है। यह रिसर्च रसायन
विभाग की लैबों में आधुनिक उपकरणों के माध्यम से अमल में लाये जा रहे हैं। विभाग में होने वाले प्रत्येक
रिसर्च के बारे में और उन पर अनुसंधान करने के लिए छात्रों को आगे ले जाने के प्रयास जारी हैं।

Categories
न्यूज़

न्याय क्षेत्र में सभी अपने कर्तव्यों का ईमानदारी, सत्यनिष्ठा एवं पारदर्शिता से कार्य करें

सभी सरकारी अधिवक्ताओ ने जिला जज का किया स्वागत

मथुरा। जिले के नवनियुक्त जिला जज राजीव भारती का आज जिले के सभी सरकारी अधिवक्ताओ ने उन्हे स्मृति चिन्ह देकर के उनका स्वागत किया। जिला जज ने कहा सभी को अपने कर्तव्यों का ईमानदारी, सत्यनिष्ठा एवम् पारदर्शिता से कार्य करना चाहिए।
जिले में नवनियुक्त जिला जज राजीव भारती के चार्ज लेने के बाद आज डीजीसी श्री शिवराम तरकर एवं स्पेशल डीजीसी पॉक्सो कोर्ट न्यायालय अलका उपमन्यु एडवोकेट एवम् जिले के सभी सरकारी अधिवक्ताओं ने उनको स्मृति चिन्ह देकर स्वागत किया, इस अवसर पर उन्होंने कहा कि उन्हे यहां ब्रजभूमि में जज के रूप में दोबारा कार्य करने का अवसर प्राप्त हुआ है इससे पहले भी वह न्यायालय में अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

जिला शासकीय अधिवक्ता शिवराम सिंह तरकर , स्पेशल डीजीसी अलका उपमन्यु , एडीजीसी भीष्म दत्त तोमर, महेश चंद्र गौतम, ठाकुर भगत सिंह, अभिषेक सिंह, सुभाष चतुर्वेदी सुरेश प्रसाद शर्मा, मुकेश बाबू, चौधरी रनबीर सिंह, सूर्यवीर सिंह ,राजू सिंह, अवनीश उपाध्याय, नरेंद्र कुमार शर्मा ,चंद्रभान सिंह खरग सिंह छोकर एवं कुमारी राजेश सिंह तरकर आदि अधिवक्ताओं ने जिला जज का स्वागत किया।

Categories
शिक्षा जगत स्वास्थ्य

खतरनाक नहीं ओमिक्रॉन लेकिन सतर्क रहें- डॉ. सौरभ सिंघल


जी.एल. बजाज में नॉलेज शेयरिंग सेशन का आयोजन


थुरा। दुनिया के कई देशों में ओमिक्रॉन वैरिएंट के बढ़ते मामलों ने लोगों की चिन्ता बढ़ा दी है। इसी चिन्ता को देखते हुए जी.एल. बजाज ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस द्वारा नॉलेज शेयरिंग सेशन का आयोजन किया गया जिसमें के.डी. मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के मेडिसिन विशेषज्ञ डॉ. सौरभ सिंघल ने प्राध्यापकों, छात्र-छात्राओं तथा कर्मचारियों को ओमिक्रॉन वैरिएंट से बचाव के उपाय बताए।


डॉ. सिंघल ने कहा कि कोविड-19 के ओमिक्रॉन संस्करण को इस प्रमाण के आधार पर चिन्ता का एक प्रकार कहा गया है कि इसमें कई उत्परिवर्तन हैं जो इस बात पर प्रभाव डाल सकते हैं कि यह कैसे व्यवहार करता है। इसकी सम्प्रेषणीयता, गम्भीरता और पुनः संक्रमण के जोखिम का मूल्यांकन करने के लिए बहुत सारे शोध चल रहे हैं। अब तक के अध्ययनों में ओमिक्रॉन वैरिएंट को डेल्टा से भी संक्रामक बताया जा रहा है लेकिन अच्छी बात यह है कि यह वैरिएंट कोविड के अभी तक के अधिकतर वैरिएंट्स से काफी माइल्ड है। इसलिए ज्यादा घबराने की आवश्यकता नहीं है लेकिन यह जरूरी है कि हम कोविड प्रोटोकॉल्स का सही तरह अनुपालन करें।


डॉ. सिंघल ने बताया कि कोरोना के किसी भी रूप से बचाव के लिए कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर का पालन करते रहना सबसे बेहतर उपाय हो सकता है। विशेषकर बाहर या भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाते समय डबल मॉस्क का प्रयोग करें, सोशल डिस्टेंसिंग और हाथों की स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें। जिन लोगों का टीकाकरण हो चुका है उन्हें भी इन नियमों का पालन करते रहना चाहिए। डॉ. सिंघल ने कहा कि अपनी और अपने प्रियजनों की सुरक्षा के लिए सबसे महत्वपूर्ण चीज जो आप कर सकते हैं, वह है वायरस के सम्पर्क में आने के जोखिम को कम करना।


ऐसा मॉस्क पहनें जो आपकी नाक और मुंह को ढंके। सुनिश्चित करें कि मॉस्क लगाते समय आपके हाथ साफ हों। दूसरों से कम से कम एक मीटर की शारीरिक दूरी बनाकर रखें। भीड़-भाड़ वाली जगहों में जाने से बचें। घर के अंदर वेंटिलेशन में सुधार के लिए खिड़कियां खोलें। अपने हाथ नियमित रूप से धोएं। डॉ. सिंघल ने सुझाव दिया कि जिन लोगों का अब तक टीकाकरण नहीं हो सका है, उनको जल्द से जल्द दोनों खुराक ले लेनी चाहिए। डॉ. सिंघल ने बताया कि वैक्सीनेटेड लोगों में कोरोना के गम्भीर संक्रमण और इससे मौत का खतरा कम होता है।


डॉ. सिंघल ने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए हमें हमेशा खुद को तैयार रखना होगा। सभी लोगों को लगातार प्रतिरक्षा को बढ़ाने वाले उपाय करते रहने चाहिए। पौष्टिक आहार लें, व्यायाम करें, शराब-धूम्रपान से दूरी बनाएं और साथ ही साथ नकारात्मक खबरों से बचें। कार्यक्रम के अंत में संस्थान की निदेशक प्रो. (डॉ.) नीता अवस्थी ने डॉ. सौरभ सिंघल का आभार मानते हुए उन्हें स्मृति चिह्न भेंट किया।

Categories
न्यूज़

सेना का हेलीकॉप्टर एमआई-17 क्रैश हुआ, चार शव मिले


मिलनाडु। कन्नूर के जंगलों में बुधवार को सेना का एमआई-17 हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया। घने जंगलों में हुए इस हादसे के बाद हेलिकॉप्टर में आग लग गई। इसमें चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका समेत सेना के 14 अफसर सवार थे। अब तक 4 शव बरामद किए गए हैं, जो बुरी तरह जल चुके हैं।

हादसे के करीब एक घंटे बाद यह जानकारी दी गई कि जनरल रावत को वेलिंगटन के मिलिट्री अस्पताल ले जाया गया है, हालांकि उनकी स्थिति क्या है, इस बारे में कोई आधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जानकारी दे दी गई है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह थोड़ी देर में इस पर संसद में बयान देंगे। कुछ रिपोट्र्स में दावा किया जा रहा है कि जनरल बिपिन रावत गंभीर रूप से घायल हैं। रावत 31 दिसंबर 2016 से 31 दिसंबर 2019 तक सेना प्रमुख के पद पर रहे। उन्होंने 1 जनवरी 2020 को चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का जिम्मा संभाला।

हेलिकॉप्टर में ये लोग सवार थे

  1. जनरल बिपिन रावत
  2. मधुलिका रावत
  3. ब्रिगेडियर एलएस लिद्दर
  4. ले. क. हरजिंदर सिंह
  5. नायक गुरसेवक सिंह
  6. नायक. जितेंद्र कुमार
  7. लांस नायक विवेक कुमार
  8. लांंस नायक बी. साई तेजा
  9. हवलदार सतपाल

बुरी तरह जल गए हैं शव

न्यूज एजेंसी के मुताबिक, हेलिकॉप्टर सुलूर एयरबेस से वेलिंगटन जा रहा था। हेलिकॉप्टर दोपहर 12:20 बजे तब क्रैश हुआ, जब वह लैंडिंग स्पॉट से महज 10 किलोमीटर दूर था। मौके पर डॉक्टर्स, सेना के अफसर और कोबरा कमांडो की टीम मौजूद है। जो शव बरामद किए गए हैं, उनकी पहचान की कोशिश की जा रही है, क्योंकि ये बुरी तरह जल गए हैं। कुछ और शव पहाड़ी से नीचे नजर आ रहे हैं। हादसे के जो विजुअल सामने आए हैं, उनमें हेलिकॉप्टर पूरी तरह क्षतिग्रस्त नजर आ रहा है और उसमें आग लगी हुई है।

रावत का हेलिकॉप्टर पहले भी क्रैश हुआ था, बच गए थे
जनरल बिपिन रावत एक बार पहले भी हेलिकॉप्टर हादसे का शिकार हो चुके हैं। 3 फरवरी 2015 को उनका चीता हेलिकॉप्टर नगालैंड के दीमापुर में क्रैश हुआ था। तब बिपिन रावत लेफ्टिनेंट जनरल थे।

Categories
आज का राशिफल

आज का राशिफल : 08 दिसम्बर 2021, बुधवार

मेष (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ)
आज का दिन भाग्यशाली बीतेगा। सामाजिक दायरा बढेगा व मान सम्मान में वृद्धि होगी। घर और बाहर के अव्यवस्थित खाने से बचें। आज खर्च भी हो सकता है । घर के छोटे सदस्यों के साथ अधिक वक्त बिताएं। उन्हें आपके सपोर्ट की बेहद जरूरत है। गुस्से पर नियन्त्रण कर सकारात्मक सोच पर भरोसा रखें लाभ निश्चित है।

वृष (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वे, वो)
आज का दिन खुशगवार बीतेगा क्योंकि दिन शुभ है। अपने प्रेमी से आज मिलन होगा। दिनभर उत्साह बना रहेगा। कुछ असमंजस के कारण मुनाफे के रास्ते में अड़चन आ सकती है। माता पिता का आशीर्वाद बना रहेगा। अनुभवी से सलाह लेने पर मामला सुलझ सकता है। आराम को समय दें।

मिथुन (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा)
आज का दिन थोड़ा सावधानी से चलने का है। आसपास के लोगों से बहसबाजी में न उलझें। किसी शुभ मांगलिक कार्य में जाने का मौका मिलेगा। दूसरों की मदद से दिल को सुकून मिलेगा। सेहत सामान्य रहेगी। मनोरंजन पर समय कम खराब करें।

कर्क (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो)
आपके लिए आज का दिन सामान्य रिजल्ट देने वाला होगा। रोजगार व्यवसाय में लाभ होगा । ईमानदारी से बनाए गए रिश्ते लंबे समय तक आपका साथ निभाएंगे। कुछ लोगों की किस्मत आज चमक सकती है। स्वास्थ्य बेहतर रहेगा।

सिंह (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे)
आज का दिन काफी व्यस्त रहेगा। मेहनत के बाद उसका फल मिल जाएगा। अपने पार्टनर के साथ शाम का स्पेशल प्रोग्राम कामयाब होगा। इज्जत बढ़ेगी और अचानक घूमने-फिरने से कोई फायदा हो सकता है। बच्चों के प्रति चिंता रह सकती है लेकिन सब सकारात्मक ही होगा।

कन्या (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो)
आज का दिन खुशगवार बीतेगा। लाभ के मौके मिलेंगे। किसी असरदार शख्स पर पैसा खर्च होगा। जीवन की दिशा नया मोड़ लेगी। यात्रा होगी और जायदाद के कागजों में दस्तावेजों के प्रति सजग रहें। धर्म – कर्म में रूचि बढ़ेगी। मनोरंजन के प्रयास सफल होंगे।

तुला (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते)
आपके लिए आज का दिन एक्टिव है। पैसे की परेशानियां सुलझ जाएंगी। हैल्थ से जुड़ी परेशानियां हल हो जाएंगी। कोई समाचार प्राप्त होने के योग है। किसी खास व्यक्ति से परिचय होगा और बिजनेस में फायदा पहुंचेगा। किसी खास चीज के गुम होने का दुख भी हो सकता है। भगवान पर भरोसा रखें।

वृश्चिक (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू)
थोड़ी सी मेहनत से ही सम्मान मिलेगा। अच्छे व्यवहार से नए दोस्त बनेंगे और नए प्रोजेक्ट पर काम भी शुरू हो जाएगा। ऑफिस में खास परिवर्तन होंगे व काम भी बनते नजर आएंगे। मनोरंजन के प्रयास रहेंगे। मित्रमंडली से सहयोग मिलेगा। थकान रह सकती है।

धनु (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे)
आज का दिन आपके लिए अच्छा है। राजनीतिक गतिविधियां बढ़ेंगी। किसी अनुभवी व्यक्ति से लाभ उठाएं लेकिन उस पर धन खर्च होगा। जीवन की दिशा नया मोड़ लेगी। प्रॉपर्टी के मामले हल होंगे। अनजान व्यक्ति पर आंखे बंद करके विश्वास न करें।

मकर (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी)
छोटे-मोटे झगड़े दिन के पहले हिस्से में सिर उठाएंगे लेकिन आपकी सूझबूझ से जल्द ही निपट जाएंगे। बढ़ते खर्च पर लगाम लगेगी। अधिक मेहनत करेंगे और अपने व्यवहार में सुधार करेंगे तो फायदे में रहेंगे। जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा।

कुंभ (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा)
व्यवसाय में लाभ होगा । ऑफिस में काम को धीरे-धीरे ही करेंगे तो फायदे निश्चित हैं । पढ़ाई-लिखाई में ध्यान दें। प्रॉपर्टी का लाभ मिलेगा। मेहनत से किए गए काम के अच्छे नतीजे निकलेंगे। ऑफिस में नए साथी काम में हाथ बंटाएंगे। स्वास्थ्य सामान्य रहेगा।

मीन (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची)
आज आपका दिन भाग्यशाली रहेगा। व्यापार और इन्वेस्टमेंट में चिंता खत्म होगी। घूमने फिरने और मनोरंजन का सुख मिलेगा। नए दोस्त बनेंगे। डेली रूटीन और खाने-पीने का पूरा प्रोग्राम व्यवस्थित तरीके से बनाएं।

  • पं. प्रदीप गंगोटिया, पीताम्बरा पीठ, दतिया
Categories
आज का पंचाग

आज का पञ्चांग : 08 दिसम्बर 2021, बुधवार

ॐ श्रीगणेशाय नम:

आज बुधवार को मार्गशीर्ष सुदी पंचमी 21:27 तक पश्चात् षष्ठी शुरू , श्रीपंचमी , श्री नागपंचमी व्रत (द.भा. ), विवाह पंचमी , शुक्र मकर राशि में 14:03 पर , सर्वदोषनाशक रवि योग 22:40 से , महापात 11:45 तक , कुमारयोग , श्रीरामजानकी विवाहोत्सव , गुरु श्री तेगबहादुर ज्योति ज्योत / बलिदान दिवस ( प्राचीनमतानुसार ) , श्री बालकृष्ण शर्मा नवीन जन्म दिवस , श्री बालाजी बाजीराव जयन्ती , श्री प्रकाश सिंह बादल जन्म दिवस , अभिनेता श्री धर्मेन्द्र जन्म दिवस , दक्षिण एशियाई क्षेत्रीय सहयोग संगठन (सार्क) का 37वां स्थापना दिवस , अखिल भारतीय हस्तशिल्प सप्ताह ( 08 से 14 दिसम्बर ) व राष्ट्रीय मतिमंद पुनर्वसन सप्ताह ( 08 से 14 दिसम्बर )।

  • शक सम्वत- 1943
  • विक्रम सम्वत- 2078
  • मास- मार्गशीर्ष
  • पक्ष- शुक्लपक्ष
  • तिथि- पंचमी-21:27 तक
  • पश्चात- षष्ठी
  • नक्षत्र- श्रवण- 22:40 तक
  • पश्चात- धनिष्ठा
  • करण- बव.-10:30 तक
  • पश्चात- बालव
  • योग- ध्रुव-13:07 तक
  • पश्चात- व्याघात
  • सूर्योदय- 07:01
  • सूर्यास्त- 17:24
  • चन्द्रोदय- 11:01
  • चन्द्रराशि- मकर- दिनरात
  • सूर्यायण – दक्षिणायन
  • गोल- दक्षिणगोल
  • अभिजित- कोई नहीं
  • राहुकाल- 12:12 से 13:30
  • ऋतु- हेमन्त
  • दिशाशूल- उत्तर

कल बृहस्पतिवार को मार्गशीर्ष सुदी षष्ठी 19:56 तक पश्चात् सप्तमी शुरु , गुहा षष्ठी व्रत (महाराष्ट्र ), मूलक रूपिणी षष्ठी (बंगाल ), स्कन्द षष्ठी व्रत (सांयकालीन षष्ठी में ) , श्री अन्नपूर्णा षष्ठी व्रत , चम्पा षष्ठी व्रत , पंचक 10:10 से , सर्वदोषनाशक रवि योग 21:51 तक , श्री राम कलेवा , संत तारण तरण जयन्ती (जैन , म.प्र. )मंगल अनुराधा नक्षत्र में 25:06 पर , बुध मूल नक्षत्र धनु राशि में 30:06 पर , , श्री ई. के. नायनार (एरम्पाला कृष्णन नायनार) जयन्ती , श्रीमती सोनिया गांधी जन्म दिवस , श्री राव तुलाराम जयन्ती , अंतर्राष्ट्रीय भ्रष्टाचार निरोधक दिवस , अखिल भारतीय हस्तशिल्प सप्ताह ( 08 से 14 दिसम्बर जारी ) व राष्ट्रीय मतिमंद पुनर्वसन सप्ताह ( 08 से 14 दिसम्बर जारी )।

  • आचार्य कमलेश पाण्डेय
Categories
न्यूज़

कड़ी चौकसी के बीच श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर लगे धार्मिक नारे, सुरक्षाकर्मियों में मची खलबली

थुरा। सोमवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कुछ करणी सेना के पदाधिकारियों और एक साधू ने नारेबाजी की। नारेबाजी के बाद पुलिस और सुरक्षाकर्मियों में खलबली मच गई। पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में ले लिया।

छह दिसंबर को जनपद में कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। मथुरा में श्री कृष्ण जन्मस्थान के मुख्यद्वार पर सोमवार को पहुंचे बरसाना के एक साधु और करणी सेना के पदाधिकारियों ने धार्मिक नारे लगाए। शोर-शराबा होने की सूचना पर मौके पर डीएम और एसएसपी भी पहुंचे। पुलिस चार लोगों को हिरासत में लेकर थाना गोविंदनगर ले गई।


एडीजी और आईजी ने देखी सुरक्षा व्यवस्था


श्री कृष्ण जन्मभूमि व शाही मस्जिद ईदगाह पर सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए। एडीजी राजीव कृष्ण, आईजी नचिकेता झा, डीएम नवनीत चहल और एसएसपी डॉ. गौरव ग्रोवर पुलिस बल के साथ लगातार दोनों धार्मिक स्थलों के आसपास के क्षेत्रों में भ्रमण करते रहे। पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील था। दोपहर में बरसाना के संत सर्वेश्वर दास मलूक, गोरखपुर के पछपड़वा निवासी आलोक कुमार चौहान, श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना जिला संभाग के अध्यक्ष फरीदाबाद निवासी विकास चौहान सहित अन्य लोग श्री कृष्ण जन्मभूमि के गेट पर पहुंचे। यहां उन्होंने जय श्री राम के नारे लगाना आरंभ कर दिया। सर्वेश्वर दास मलूक का कहना था हम सभी भी अलग-अलग स्थानों से आए थे। पुलिस हरकत में आई और सभी को वहां से हटाया गया। इस बीच एसएसपी की गाड़ी वहां पहुंची और हिरासत में लेकर गोविंदनगर थाने भेजा गया।


नजरबंद कारसेवकों ने घर पर ही किया शांति पाठ


श्रीकृष्ण जन्मभूमि निर्माण न्यास के राष्ट्रीय अध्यक्ष आचार्य देवमुरारी बापू सहित संतों ने अयोध्या के छह दिसंबर 1992 विवादित ढांचे को गिराए जाने को शौर्य दिवस के रूप में मनाया। शहीद हुए कारसेवकों की आत्मा की शांति के लिए अपने आवास पर सीमित संख्या में 144 धारा का पालन करते हुए कार्यक्रम किए। पुलिस द्वारा लिखित में आश्वासन लिए जाने के बाद कार्यकर्ता बाहर नहीं निकले और उनके घर के बाहर पुलिस का पहरा रहा।

देवमुरारी ने कहा कि हमारी भावना भगवान श्रीकृष्ण की जन्मस्थली पर भव्य मंदिर देखने की है। उन्होंने मुस्लिम समाज से भी अपील की कि आपसी भाईचारा के लिए वह भी शाही ईदगाह मस्जिद को श्रीकृष्ण जन्मस्थान को समर्पित कर दें, क्योंकि इससे पहले काशी स्थित ज्ञानवापी मस्जिद के पक्षकार मुसलमानों ने काशी विश्वनाथ को ज्ञानवापी मस्जिद परिसर समर्पित कर दिया। शांति पाठ में नागा कुणाल गिरी निरंजनी अखाड़ा, रामकुटी के महंत देवदास, मुनेश अग्रवाल भी आदि शामिल थे।

Categories
शिक्षा जगत

पर्यावरण सबसे बड़ी चिंता, सभी देशों को मिलकर काम करना होगा


वर्ल्ड पीस एंड अर्थ कंस्टीट्यूशन’ विषय पर चर्चा में बोले डब्लूसीपीए अध्यक्ष


मथुरा। संस्कृति विश्वविद्यालय में ‘वर्ल्ड पीस एंड अर्थ कंस्टीट्यूशन’ को लेकर हुई एक महत्वपूर्ण चर्चा में वर्जीनिया निवासी, वर्ल्ड कंस्टीट्यूशन एंड पार्लियामेंट एसोसिएशन(डब्लूसीपीए) के अध्यक्ष डा. ग्लेन टी मार्टिन ने कहा कि हमारी पृथ्वी को जरूरत है शुद्ध पानी, हवा और विश्व शांति की। जब तक सारे देश मिलकर सम्मिलित प्रयास नहीं करेंगे हम आने वाली पीढ़ी के लिए कुछ अच्छा नहीं कर पाएंगे। हम सबको अपनी धरती के भविष्य के बारे में सोचना है न कि सिर्फ अपने बारे में।


डा. ग्लेन ने वैश्वीकरण की आवश्यकता पर बल देते हुए कहा कि जब सारे देश इस धरती के पर्यावरण को अच्छा बनाए रखने के लिए आपसी वैमनस्य और प्रतिद्वंद्विता को छोड़कर एक साथ डब्लूसीपीए द्वारा निर्धारित उद्देश्यों पर काम करेंगे तभी कुछ अच्छा हो पाएगा। भविष्य की हम सबको चिंता करनी होगी वरना कई शहर, देश जो आज नजर आ रहे हैं समुद्र में डूब जाएंगे। दिक्कत यह है कि हर देश अपने बारे में सोच रहा है। शक्तिशाली देश और शक्तिशाली हो जाएंगे और कमजोरों को नष्ट कर दिया जाएगा।

उन्होंने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि समस्या रोजगार पाना नहीं, भविष्य की चिंता अच्छी हवा, शुद्ध जल और धरती को बचाने की है। डब्लूसीपीए का गठन विश्व के देशों ने इसी समस्या को देखकर किया है। उन्होंने कहा कि भारत रूल आफ रेगुलेशन मानने वाला देश है। उन्होंने महात्मा गांधी का उल्लेख करते हुए भारत की शांति पर चलने वाली नीति की बात की। अगर कहीं कोई विवाद है तो दोनों देश आपस में वार्ता करें, हर वो संभव तरीका इस्तेमाल करें जिससे भाईचारा बढ़े। मानवता की सुरक्षा के लिए हम सबको सिविलाइज्ड होना पड़ेगा। एक अच्छा वैश्विक वातावरण तभी तैयार होगा।

मंच पर उपस्थित संस्कृति विश्वविद्यालय के चांसलर सचिन गुप्ता ने कहा कि कोई आश्चर्य नहीं कि अगला विश्व युद्ध पानी के लिए हो। हमारे पर्यावरण में हवा, जल का महत्व कितना है यह आज सबकी समझ में आने लगा है। यह सही है कि हम सबको अपने आसपास के पर्यावरण के बारे में गंभीरता से सोचने की जरूरत है। अगर हम नहीं संभले तो हमें बिगड़ने वाले मौसमों का अधिक सामना करना पड़ सकता है। अगर हमारे आसपास का पर्यावरण बदलता है तो वर्षा, गर्मी सभी मौसमों की अनिश्चितता बढ़ेगी। हमने तय किया कि हमारे विवि में हर महीने पर्यावरण पर विश्वस्तरीय चर्चा की जाएगी।

उन्होंने कहा शुरुआत सिर्फ एक अच्छे कार्य से हो सकती है। यह कार्य प्रेरणा का स्रोत बन सकता है। उन्होंने विवि द्वारा इस क्षेत्र में आगे बढ़कर किए गए कार्यों की जानकारी देते हुए कहा कि हमारे यहां इसके लिए आनलाइन पाठ्यक्रम उपलब्ध है आगे चलकर डिग्री कोर्स भी हो जाएगा। उन्होंने बताया कि विवि कामनवेल्थ में सदस्य भी है। विवि का अरविंदो सोसाइटी के साथ एमओयू है।

उन्होंने विद्यार्थियों को जानकारी देते हुए बताया कि जल्द ही विवि में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का फुटबाल मैदान, आडीटोरियम और सिनेमा हाल तैयार हो जाएगा।
चर्चा में उपस्थित पीसीटीआई के चेयरमैन एंड मैनेजिंग डाइरेक्टर मेजर सुशील गोयल ने अपनी बात जय हिंद के नारे से शुरू की। उन्होंने विद्यार्थियों से वक्त के साथ शिक्षा में हो रहे बदलाव के प्रति सजग रहते हुए अपने ज्ञान की वृद्धि की बात की। उन्होंने कहा कि जो पहले पढ़ाया जाता था वो अब बहुत एडवांस हो गया है। आज आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का जमाना है। सारे जाब एआई बेस्ड हो गए हैं। कहीं भी रोजगार पाने के लिए एआई की जानकारी होना जरूरी है, इसके बिना आप इंटरव्यू तक में नहीं बुलाए जाते।


कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन से हुआ। डब्लूसीपीए के अध्यक्ष डा.ग्लेन मार्टिन का स्वागत करते हुए विवि के कुलपति प्रोफेसर एसपी पांडे ने कहा कि विवि का लोगो है, एक्सीलेंस इन लाइफ। विवि अपने इसी गोल को सामने रखते हुए विद्यार्थियों का समग्र रूप से विकास कर रहा है। कार्यक्रम का संचालन संस्कृति आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज की डा. दीपा ने किया।

Categories
न्यूज़

के.डी. हॉस्पिटल में एंडोस्कोपिक विधि से एक टांके का ऑपरेशन


डॉ. कौशल दीप सिंह और डॉ. मोहसिन फयाज ने अनार देवी के चेहरे पर लौटाई मुस्कान


मथुरा। चिकित्सा-शिक्षा के क्षेत्र में ख्यातिनाम के.डी. मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर प्रबंधन यहां लगातार आधुनिकतम चिकित्सा उपकरणों में इजाफा कर रहा है ताकि मरीजों को इलाज के अभाव में दिल्ली, जयपुर, आगरा या दीगर शहरों की तरफ न भागना पड़े। इसी कड़ी में यहां एंडोस्कोपिक (दूरबीन) विधि से पिट्यूटरी ग्रंथी के दिमाग के ट्यूमर और कमर के ऑपरेशन की सुविधा भी उपलब्ध करा दी गई है।


के.डी. हॉस्पिटल के विशेषज्ञ न्यूरो सर्जनों डॉ. कौशल दीप सिंह और डॉ. मोहसिन फयाज ने लम्बे समय से कमर दर्द से परेशान अनार देवी पत्नी नाहर सिंह (55) निवासी पंडूपुर, खामिनी, मथुरा की एंडोस्कोपिक विधि से एक टांके की दुर्लभ सर्जरी कर उसे परेशानी से निजात दिलाई है। इससे पहले यह दोनों चिकित्सक दूरबीन विधि से यहां पिट्यूटरी ग्रंथ के दिमाग के ट्यूमर की भी सर्जरी कर चुके हैं।


गौरतलब है कि अनार देवी काफी समय से कमर के दर्द से परेशान थीं। यह दर्द उनकी कमर से नीचे होते हुए बाएं पैर में जाता था और सियाटिका की परेशानी कर रहा था। उनके बाएं पैर में जलन के साथ सनसनाहट भी होती थी। दर्द के कारण वह अपने साधारण काम करने में भी असमर्थ थीं। दवाएं लेने के बाद भी उनको पूर्ण रूप से आराम नहीं मिल रहा था। आखिरकार उन्होंने अपने बेटे के साथ इस परेशानी से निजात के लिए के.डी. मेडिकल कॉलेज में न्यूरो सर्जरी विभाग के न्यूरो सर्जन डॉ. कौशल दीप सिंह और डॉ. मोहसिन फयाज से परामर्श लिया।


कमर की एम.आर.आई. कराने से पता चला कि उनको रीढ़ की हड्डी के निचले भाग में एल-4-एल-5 स्तर पर बाईं तरफ डिस्क बाहर आयी हुई थी जोकि बाएँ पैर की नसों को दबा रही थी। डॉ. कौशल और डॉ. मोहसिन ने मरीज को ऑपरेशन की सलाह दी। परिजनों की सहमति के बाद अनार देवी की डिस्क का ऑपरेशन एंडोस्कोपिक (दूरबीन) विधि से कैमरे के माध्यम से बहुत ही छोटे (आधा सेंटीमीटर) चीरे से किया गया। ऑपरेशन के बाद अनार देवी को जहां कमर दर्द से छुटकारा मिल गया वहीं वह बिना परेशानी के चलने-फिरने में भी समर्थ हो गईं। अब वह घर के सारे काम करने लगी हैं।


एंडोस्कोपिक विधि से की जाने वाली सर्जरी पर डॉ. कौशल दीप सिंह का कहना है कि इस तकनीक से बहुत ही महीन चीरे की वजह से मरीज को बहुत जल्द अस्पताल से छुट्टी मिल जाती है, इन्फेक्शन का खतरा न के बराबर होता है तथा ऑपरेशन की जगह नाममात्र को दर्द होता है। मरीज अस्पताल से छुट्टी के बाद लगभग 15 दिन में अपने काम बिना परेशानी के कर सकता है। डॉ. कौशल दीप बताते हैं कि एंडोस्कोपिक (दूरबीन) विधि का इस्तेमाल पहली बार मथुरा क्षेत्र में किया गया है। इस विधि से सर्जरी की सुविधा दिल्ली और जयपुर के बड़े अस्पतालों में है तो लेकिन वहां बहुत अधिक पैसे खर्च करने होते हैं।


आर.के. एज्यूकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल, प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल तथा डीन डॉ. रामकुमार अशोका ने एंडोस्कोपिक विधि से सफल सर्जरी करने वाले चिकित्सकों डॉ. कौशल दीप सिंह और डॉ. मोहसिन फयाज व उनकी टीम को बधाई दी है। अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल का कहना है कि के.डी. हॉस्पिटल अपनी चिकित्सा सुविधाओं में निरंतर सुधार को प्रतिबद्ध है ताकि ब्रज मण्डल के किसी भी मरीज को चिकित्सा के अभाव में दूसरे शहरों की तरफ न जाना पड़े।


Categories
न्यूज़

मांट में सीएम योगी 8 दिसंबर को जन सभा को करेंगे संबोधित, एक घंट रहेंगे जनता के बीच

मथुरा। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आठ दिसंबर बुधवार को मांट विधानसभा क्षेत्र में आएंगे। सीएम योगी मांट क्षेत्र में दोपहर 12 से एक बजे तक रहेंगे। प्रदेश के निजी सचिव सुरेन्द्र कुमार द्वारा जारी सीएम आगमन के कार्यक्रम के अनुसार मुख्यमंत्री मांट में विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करेंगे। इसके साथ ही सरकारी योजनाओं के प्रमाणपत्रों का लाभार्थियो को वितरित करेेंगे एवं जन सभा को भी संबोधित करेंगे।


प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार सीएम योगी आदित्यनाथ लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट से आठ दिसंबर को प्रात: करीब साढे ग्यारह बजे खेरिया एयरपोर्ट आगरा आएंगे। यहां से हैलीकॉप्टर से दोपहर करीब 12 बजे मांट स्थित कार्यक्रम स्थल पर बनाए गए हैलीपैड पर आएंगे। एक घंटे के कार्यक्रम के बाद सीएम योगी मांट से शाहजहांपुर के लिए रवाना होंगे।


मुख्यमंत्री के आगमन की तैयारियो को लेकर जिला प्रशासन एवं पुलिस तैयारियों में जुटी है। हैलीपैड से लेकर कार्यक्रम स्थल तक फुल प्रूफ सुरक्षा व्यवस्था की जा रही है।