Monday, April 22, 2024
HomeUncategorizedमहानगर के चम्पा अग्रवाल इंटर कालेज में संस्कृत संभाषण शिविर का हुआ...

महानगर के चम्पा अग्रवाल इंटर कालेज में संस्कृत संभाषण शिविर का हुआ शुभारंभ।

संस्कृतभारती ब्रजप्रांत मथुरा महानगर द्वारा स्थानीय चम्पा अग्रवाल इण्टर कॉलेज में दस दिवसीय संस्कृत संभाषण शिविर का शुभारंभ वैदिक विधि विधान से किया गया।
इस अवसर पर प्रमुख रूप से उपस्थित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ मथुरा महानगर सहकार्यवाह विजय अग्रवाल बण्टा,अजय अग्रवाल सर्राफा, ज्योतिषाचार्य पंडित कामेश्वर नाथ चतुर्वेदी, संस्कृत भारती ब्रज प्रान्त संगठन मंत्री नरेन्द्र भागीरथी, ब्रज प्रान्त मंत्री धर्मेन्द्र कुमार अग्रवाल, हरस्वरुप यादव, संस्कृत भारती ब्रज प्रान्त मथुरा महानगर अध्यक्ष आचार्य ब्रजेन्द्र नागर प्रचार प्रमुख रामदास चतुर्वेदी शास्त्री पूर्व पार्षद एवं चम्पा अग्रवाल इण्टर कॉलेज के प्रधानाचार्य डॉ राकेश माहेश्वरी, आदि ने सर्व प्रथम मां सरस्वती व भारत माता के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्वलित किया ।
शिविर शिक्षक रुद्रप्रताप सिंह तोमर द्वारा मां सरस्वती की वन्दना प्रस्तुत की गई। शिविर शिक्षक देवव्रत तोमर द्वारा ध्येय मंत्र का पाठ किया गया।
ब्रज प्रान्त संगठन मंत्री नरेन्द्र भागीरथी ने संस्कृत भारती के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए कहा संस्कृत भाषा को जनसाधारण की भाषा बनाना ही संस्कृत भारती का मुख्य उद्देश्य है। ब्रज प्रान्त मंत्री धर्मेन्द्र अग्रवाल ने कहा कि वर्तमान में संस्कृत भाषा को विश्व के अनेक देशों में ज्ञान व विज्ञान की भाषा के रुप में स्वीकार किया जा रहा है।अतः संस्कृत भाषा के प्रति युवाओं में जागरूकता पैदा करना अति आवश्यक है।
महानगर सहकार्यवाह विजय अग्रवाल बण्टा व अजय अग्रवाल सर्राफा ने कहा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रारंभ से ही भारतीय संस्कृति सभ्यता संस्कार और परम्पराओं को सुरक्षित रखने के लिए संस्कृत भाषा को जनसाधारण की भाषा बनाने के लिए संकल्पित है।
संस्कृत भारती ब्रज प्रान्त मथुरा महानगर अध्यक्ष आचार्य ब्रजेन्द्र नागर ने कहा वर्तमान में संस्कृत भाषा के प्रति छात्र छात्राओं में आकर्षण पैदा करने की आवश्यकता है इसी उद्देश्य को लेकर संस्कृत भारती द्वारा विद्यालयों में संभाषण शिविर, प्रशिक्षण वर्ग, प्रबोधन वर्ग,नैपुण्य वर्ग,बाल केन्द्र के माध्यम से छात्र छात्राओं में संस्कृत भाषा के प्रति आकर्षण पैदा करने का प्रयास किया जा रहा है जिससे हमारी नई पीढ़ी को भरत की प्राचीन संस्कृति व संस्कार का ज्ञान प्राप्त हो सके। उन्होंने ने चम्पा अग्रवाल इण्टर कॉलेज की प्रबंध समिति एवं प्रधानाचार्य सहित सभी सहयोगी अध्यापकों का संस्कृत भाषा के प्रचार प्रसार में सहयोग प्रदान करने के लिए धन्यवाद ज्ञापन करते हुए आभार व्यक्त किया।
प्रचार प्रमुख रामदास चतुर्वेदी शास्त्री पूर्व पार्षद ने कहा कि आज से 130 वर्ष पूर्व 11 सितम्बर 1893 में स्वामी विवेक नन्द जी ने विश्व धर्म सम्मेलन शिकागो में व्याख्यान करते हुए अपनी भाषा, संस्कृति के वैज्ञानिक पक्ष को सिद्ध किया था।
उस काल खण्ड में हमारी प्राचीन संस्कृति का उपहास किया जाता था।
19 25 में पुनः अपनी भारतीय परम्पराओं की संस्कृति, संस्कार, ज्ञान, विज्ञान को संरक्षित, संवर्धित एवं पुर्नस्थापित करने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की स्थापना के साथ लिए गए संकल्प आज सिद्ध हो रहें, विभिन्न माध्यमों से भारतीय संस्कृति की जय जय कार सम्पूर्ण विश्व में हो रही है,उसी प्रकार अब वह दिन दूर नहीं जब,गांव गांव,नगर नगर, घर घर संस्कृत भाषा सामान्य बोलचाल के चलन में होगी।
इस अवसर पर चम्पा अग्रवाल इण्टर कालेज के प्रधानाचार्य डॉ राकेश माहेश्वरी ने संस्कृत भारती के सभी पदाधिकारियों का अंगवस्त्र भेट कर सम्मान किया और संस्कृत भारती के पदाधिकारियों का संस्कृत भाषा के प्रति छात्र छात्राओं में आकर्षण पैदा करने के लिए किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए सभी अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापन किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता ज्योतिषाचार्य पंडित कामेश्वर नाथ चतुर्वेदी ने की तथा संचालन बृजभूषण चौहान द्वारा किया गया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments