Monday, February 26, 2024
Homeन्यूज़न्यूज़बरसाना में आठ घंटे तक जाम में फंसे रहे श्रद्धालु

बरसाना में आठ घंटे तक जाम में फंसे रहे श्रद्धालु

जाम के चलते तीन किलोमीटर पैदल चलकर घर पहुंचे स्कूली बच्चे
बरसाना में शनिवार को लगे जाम में फंसे श्रद्धालुओ के वाहन

रिपोर्ट राघव शर्मा

बरसाना: भले ही योगी सरकार ने बरसाना को तीर्थ स्थल का दर्जा दे दिया, लेकिन आज भी बरसाना जाम के झाम में फंसा रहता है। शनिवार को बरसाना में तीन किलोमीटर लंबे जाम में श्रद्धालु आठ घंटे तक फंसे रहे। बड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने जाम खुलवाया।

धार्मिक नगरी बरसाना में रोजाना हजारों की संख्या में श्रद्धालु राधारानी के दर्शन करने आते है। ऐसे में पार्किंग की उचित व्यवस्था न होने के कारण अक्सर शनिवार व रविवार को जाम लग जाता है। जाम के कारण स्कूल बस तथा एबुलेंस तक घंटो फसीं रहती है। शनिवार को बरसाना में सुबह दस बजे से ही जाम लगना शुरू हो गया। दोपहर तीन बजे तक श्रद्धालुओ के वाहन जाम में फंसे रहे। जाम की स्थिति इस कदर थी कि राणा की प्याऊ से लेकर नया बस स्टैंड, गोवर्धन ड्रेन की दोनो सड़कें वाहनों से फूल थी। करीब तीन किलोमीटर लंबे जाम में श्रद्धालुओ के वाहन आठ घंटे तक जाम में फंसे रहे। बड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने दोपहर बाद जाम को खुलवा पाए। जाम के चलते स्कूल की बस भी घंटो तक जाम में फंसी रही। जिसके चलते छोटे छोटे बच्चें तीन किलोमीटर पैदल चलकर अपने घर पहुंचे। वहीं एक एंबुलेस भी घंटो तक जाम में फंसी रही। जाम के कारण श्रद्धालु सड़क किनारे ही अपने वाहनों को खड़ा करके दर्शन को पैदल निकल लिए। जबकि हाल ही नगर पंचायत द्वारा 64 लाख रूपये का पार्किंग ठेका उठाया गया, लेकिन उसके बावजूद भी जाम खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। जाम की समस्या को लेकर स्थानीय लोगों ने सोशल मीडिया पर पुलिस व नगर पंचायत पर सवाल उठाए। पूर्व वाइस चेयरमैन गोकलेश कटारा एडवोकेट ने बताया कि नगर पंचायत ने पार्किंग का ठेका उठा दिया, लेकिन पार्किंग की कोई व्यवस्था तक नहीं है। जबकि स्थानीय पुलिस व नगर पंचायत को मालूम है बरसाना में अक्सर शनिवार रविवार को जाम लगता है। उसके बावजूद भी कोई इंतजाम तक नहीं किए गए। पूर्व जेल विजिटर लक्ष्मण प्रसाद शर्मा ने बताया कि एसएसपी महोदय द्वारा जाम की समस्या को देखते हुए बरसाना में ट्रैफिक के एक एसआई, दो कांस्टेबल तथा छह होमगार्डों की तैनाती की है, लेकिन यह लोग सिर्फ अवैध वसूली के आलावा कोई काम नहीं करते। राणा की प्याऊ पर बैठकर सिर्फ स्थानीय लोगों तथा श्रद्धालुओ के वाहनों से वसूली ही इनका काम है। चेयरमैन प्रतिनिधि पदम फौजी ने बताया कि नगर पंचायत के पास दो पार्किंग स्थल है। जल्द ही कुछ नए पार्किंग स्थल और बनाए जा रहे है। जिससे जाम की समस्या से निजात मिलेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments