Monday, February 26, 2024
Homeशिक्षा जगतचार साल के समीर को के.डी. हॉस्पिटल में मिला नया जीवन

चार साल के समीर को के.डी. हॉस्पिटल में मिला नया जीवन

  • चिकित्सकों ने किया कैंसर गांठ का सफल ऑपरेशन

मथुरा। के.डी. मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर के विशेषज्ञ शिशु शल्य चिकित्सक डॉ. श्याम बिहारी शर्मा ने चार वर्षीय समीर को शल्य क्रिया के माध्यम से नया जीवन दिया है। शिशु शल्य विशेषज्ञ डॉ. श्याम बिहारी शर्मा और उनकी टीम ने बच्चे के कैंसर ग्रसित गुर्दे और लिम्फ नोड को निकाल दिया है। अब समीर पूरी तरह से स्वस्थ है।
जानकारी के अनुसार चौकी बांगर, पोस्ट शाहपुर, तहसील छाता (मथुरा) निवासी शाहीन खान का चार वर्षीय पुत्र समीर लगातार पेट दर्द तथा खाने-पीने और मूत्र त्याग की परेशानी से जूझ रहा था। बच्चे की परेशानी को देखते हुए शाहीन उसे बीकानेर ले गया। कुछ दिन उपचार कराने के बाद भी जब बच्चा ठीक नहीं हुआ तो उसे किसी ने के.डी. हॉस्पिटल के शिशु शल्य विशेषज्ञ डॉ. श्याम बिहारी शर्मा को दिखाने की सलाह दी।
23 जनवरी को शाहीन अपने पुत्र समीर को लेकर के.डी. हॉस्पिटल आया और डॉ. श्याम बिहारी शर्मा से मिला। डॉ. शर्मा ने बच्चे की विभिन्न जांचों को देखा जिससे पता चला कि बच्चे के गुर्दे में कैंसर की गांठ है, जिसका ऑपरेशन किया जाना जरूरी है। परिजनों की सहमति के बाद 25 जनवरी को डॉ. श्याम बिहारी शर्मा के प्रयासों और डॉ. रवि बघेल, डॉ. सिद्धार्थ, डॉ. अनेरी, डॉ. हेन्की आदि के सहयोग से बच्चे समीर का कैंसर ग्रसित गुर्दा तथा आसपास के लिम्फ नोड को निकाल दिया गया।
इस ऑपरेशन पर डॉ. श्याम बिहारी शर्मा का कहना है कि वैसे तो इस उम्र में कैंसर के बहुत कम मामले सामने आते हैं लेकिन असम्भव कुछ भी नहीं होता। दरअसल, कैंसर तब शुरू होता है जब शरीर में कोशिकाएं नियंत्रण से बाहर होने लगती हैं। शरीर के लगभग किसी भी हिस्से की कोशिकाएं कैंसर बन सकती हैं और फिर शरीर के अन्य क्षेत्रों में फैल सकती हैं।
डॉ. शर्मा ने बताया कि बच्चे समीर का जो ऑपरेशन हुआ इसे मेडिकल भाषा में नेफ्रोब्लास्टोमा कहते हैं जो गुर्दे का कैंसर होता है। डॉ. शर्मा का कहना है कि इतने छोटे बच्चे में यह सब करना काफी रिस्की होता है बावजूद के.डी. हॉस्पिटल में चूंकि अत्याधुनिक चिकित्सा सुविधाएं और बेहतरीन ऑपरेशन थिएटर हैं लिहाजा मुश्किल काम भी काफी आसान हो जाता है।
आर.के. एज्यूकेशनल ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल, प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल, डीन और प्राचार्य डॉ. आर.के. अशोका, उप प्राचार्य डॉ. राजेन्द्र कुमार ने सफल सर्जरी के लिए चिकित्सकों की टीम को बधाई देते हुए बच्चे के स्वस्थ-सुखद जीवन की ईश्वर से कामना की है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments