Monday, February 26, 2024
Homeशिक्षा जगतसंस्कृति विवि पहुंचे आस्ट्रिया के प्रतिनिधि, स्टूडेंट एक्सचेंज पर हुई चर्चा

संस्कृति विवि पहुंचे आस्ट्रिया के प्रतिनिधि, स्टूडेंट एक्सचेंज पर हुई चर्चा

मथुरा। संस्कृति विश्वविद्यालय सपत्नीक पहुंचे आस्ट्रियन दूतावास के सांस्कृतिक फोरम के निदेशक माइकल पाल ने यहां पहुंचकर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि हमारे छात्र-छात्राएं भारत की संस्कृति, शिक्षा और यहां के परिवेश के बारे में जानना चाहते हैं। हम संस्कृति विवि के साथ मिलकर स्टूडेंट एक्सचेंज प्रोग्राम चलाकर विश्व बंधुत्व की भावना को बढ़ाने में योगदान देना चाहते हैं।
माइकल पाल के विवि पहुंचने पर उनका भारतीय परंपरा के अनुसार भावभीना स्वागत किया गया। उन्होंने संस्कृति विवि के वातावरण की सराहना करते हुए कहा कि यहां पढ़ाई के लिए बहुत अच्छा माहौल है। विश्वविद्यालय के अधिकारियों और विद्यार्थियों के साथ हुई बैठक और मुलाकात में आस्ट्रिया दूतावास के सांस्कृतिक फोरम के निदेशक माइकल ने आस्ट्रिया की शिक्षण व्यवस्था और उच्च शिक्षा व्यवस्था की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने आस्ट्रिया के उच्च स्तरीय शिक्षण संस्थानों पढ़ाए जाने प्रमुख विषयों के बारे में तो बताया ही साथ ही उन्होंने विभिन्न पाठ्यक्रमों की फीस का भी ब्यौरा दिया। उन्होंने कहा कि भारतीय विद्यार्थी जब आस्ट्रिया पढ़ने जाएंगे तो उन्हें भी आस्ट्रिया की संस्कृति, भाषा और शिक्षा व्यवस्था का ज्ञान होगा। वे वहां निश्चित रूप से अच्छा महसूस करेंगे। संस्कृति स्कूल आफ टूरिज्म एंड हास्पिटेलिटी के डीन रतिश शर्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि माइकल पाल ऑस्ट्रियाई विदेश मंत्रालय में 30 वर्षों से अधिक समय से विभिन्न अनुभागों में कांसुलर विभाग, कानूनी सेवा, विकास विभाग और कार्य परिषद के अध्यक्ष रूप में काम कर रहे हैं। उन्होंने ग्रीस और स्विट्जरलैंड से मान्यता प्राप्त थी, इसके बाद उत्तरी मैसेडोनिया में मिशन के उप प्रमुख, मॉस्को में महावाणिज्य दूत, डीएचओएम नाइजीरिया और कजाकिस्तान में पद पर नियुक्त किया गया था। भारत में अपना नया कार्यभार संभालने से पहले, ऑस्ट्रियाई दूतावास नई दिल्ली के सांस्कृतिक मंच के निदेशक के रूप में, वह मंत्रालय में विकास निदेशालय में यूनिट गुणवत्ता प्रबंधन और मूल्यांकन के प्रमुख के रूप में थे, बाद में कार्य परिषद के अध्यक्ष रहे।
बैठक में मिस्टर माइकल के अलावा संस्कृति विवि के डाइरेक्टर जनरल डा. जेपी शर्मा, एकेडमिक डीन डा. मीनू गुप्ता, डीन स्टूडेंट वेलफेयर डा.डीएस तोमर, संस्कृति इंक्युबेशन सेंटर के सीईओ अरुन त्यागी आदि अधिकारी और शिक्षक मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments