Sunday, December 4, 2022
Homeन्यूज़एक्सक्लूसिवगोवर्धन रेल मार्ग को कोसीकला रेलवे स्टेशन से जोड़ने की उठी मांग,...

गोवर्धन रेल मार्ग को कोसीकला रेलवे स्टेशन से जोड़ने की उठी मांग, रेल मंत्री को लिखा पत्र

कमल सिंह यदुवंशी

राधाकुंड। गोवर्धन गिरिराज महाराज की सप्तकोसीय परिक्रमा लगाने आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधाएं और गोवर्धन सहित आसपास के गॉव के लोगों को रोजगार के अवसर बढ़ाने के लिए राधारानी सर्विस स्टेशन संचालक समाज सेवी गौतम खण्डेलवाल ने रेलमंत्री और हेमामालनी को पत्र लिखकर समस्याओं से अवगत कराया है। उन्हें पत्र में गोवर्धन को कोसीकला रेलवे स्टेशन से जोड़ने की मांग को लेकर गोवर्धन में प्रति माह देश विदेश से आने वाले लाखों श्रद्धालु भक्तों को सीधे दिल्ली व एनसीआर से जोड़ने की मांग की गई है।
क्योंकि गोवर्धन आने के लिए दिल्ली एनसीआर के भक्तों के लिए केवल सड़क मार्ग ही एकमात्र विकल्प रहता है इससे अक्सर गोवर्धन में ट्रैफिक जाम के हालात बने रहते हैं। साथ ही हजारों वाहनों के आवागमन से प्रदूषण की समस्या भी दिनों दिन बढ़ती जा रही है ऐसे में यदि गोवर्धन रेलवे स्टेशन को रेल मार्ग द्वारा मात्र 38 किमी दूरी स्थित कोसी कलां रेलवे स्टेशन से जोड़ने पर प्रतिमाह लाखों की संख्या में दिल्ली,हरियाणा ,पंजाब, हिमाचल,आदि गोवर्धन आने वाले श्रद्धालुओं के साथ गोवर्धन के क्षेत्र के आसपास समस्त निवासियों की असीमित लाभ मिलने की पूरी संभावना है। कोसी कलां रेलवे स्टेशन से गोवर्धन रेलवे स्टेशन को रेल मार्ग द्वारा जोड़ने पर पांच मुख्य धार्मिक स्थल स्वत ही जुड़ जाएंगे इसमें सबसे पहले कोसी कलां का कोकिलावन शनि देव धाम, नंदगाँव में नंद बाबा मंदिर, बरसाना में श्रीराधा रानी मंदिर पलसों में रानी सती देवी मंदिर निंबार्क मंदिर आदि के दर्शन आसानी से श्रद्धालुओं को सकेंगे हमारे क्षेत्र में इंटरेस्टेड फैक्ट्री आदि के ना होने से बेरोजगार बहुत ही ज्यादा है स्थानीय लोग अपनी आजीविका के लिए केवल यात्रियों के ऊपर ही निर्भर रहते हैं यदि गोवर्धन कोसीकला को रेलवे मार्ग से जोड़ते हैं तो उनके साथ इन सभी इलाकों के स्थानीय बेरोजगार लोगों को भी रोजगार के अवसर खुलेंगे बच्चों को उत्तम शिक्षा के लिए दिल्ली गुड़गांव नोएडा तथा प्रतिदिन सुगमता से आने वाली आने की सुविधा का लाभ मिलेगा।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments