Saturday, November 26, 2022
Homeन्यूज़एक्सक्लूसिवडाक्टर निर्विकल्प कांड के बाद थाना हाइवे पुलिस का एक और कारनामा,...

डाक्टर निर्विकल्प कांड के बाद थाना हाइवे पुलिस का एक और कारनामा, पढ़कर आप भी रह जाएंगे दंग

मथुरा। डाक्टर निर्विकल्प अपहरण कांड में यूपी पुलिस की थू-थू कराने वाली थाना हाइवे पुलिस अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रही है। अब युवती की छेड़खानी और तमंचे लहराने के मामले में पुलिस ने कलम से एक बार फिर खेल कर दिया। आरोप है कि पुलिस को सौंपे गए आरोपी थाने से छोड़ दिए गए।
बुधवार को थाना हाइवे क्षेत्र के देवीपुरा स्थित किशोरीकुंज में एक युवती को इसी कॉलोनी के दो युवक और उनके एक अन्य साथी ने छेड़ दिया था। जब युवती ने इसका विरोध किया तो तमंचे तानकर गोली से उड़ाने की धमकी दी। इस घटना को काॅलोनी के कई लोगों ने देख लिया। उन्होंने युवती के परिजनों को घटना की सूचना दे दी। सूचना मिलते ही परिजन मौके पर पहुंच गए। उन्होंने भी युवकों का विरोध करना शुरू कर दिया। बौखलाए युवकों ने परिजनों को भी हड़काना शुरू कर दिया। यह देख कॉलोनी वासी भी युवती के पक्ष में उतर आए। मामला बढ़ते देख युवक तमंचे लहराते हुए अपने घरों की ओर भागने लगे। कॉलोनीवासियों ने परिजनों संग युवकों को घरों से पकड़ लिया। और थाना हाइवे पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस की भनक लगते ही। आरोपियों ने तमंचों को इधर उधर फेंक दिया। मगर चर्चा के मुताबिक पुलिस ने आरोपियों से करीब आधा दर्जन जिंदा कारतूस बरामद कर लिए। और तीनों युवकों को थाने ले गई। तमाम कॉलोनीवासी भी थाने में पहुंच गए। और पुलिस से शिकायत करने लगे कि उपरोक्त युवक पूर्व में छेड़खानी और तमंचा लहराने की कई घटना कर चुके हैं। मगर पुलिस के द्वारा उनके खिलाफ कोई ठोस कार्यवाही नहीं की जाती। जिससे दबंग युवकों के हौसले बुलंद हैं। कॉलोनीवासियों का आक्रोश बढ़ता देख पुलिस ने एक आरोपी का चालान कर दिया। बाकी दो को चर्चा के मुताबिक लेनदेन कर छोड़ दिया। जिससे पुलिस कार्यवाही पर तमाम सवाल उठ रहे हैं। जबकि इस थाना क्षेत्र से डाक्टर निर्विकल्प कांड अभी ठंडा नहीं हुआ कि फिर भी पुलिस मनमानी से बाज नहीं आ रही है। जब इस बारे में थाना हाइवे के कार्यवाहक थाना प्रभारी सुंदर सिंह कसाना से जानकारी की गई तो वह घटना की जानकारी देने से बचते रहे। काफी पूछने पर बताया कि काॅलोनी वासी की तहरीर पर एक युवक पर कार्यवाही की गई है। बाकी दो को निर्दोष मानकर छोड़ दिया गया है। लेनदेन की चर्चा केवल अफवाह है। क्या कार्रवाई की गई है यह बताने से इनकार कर दिया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments