Sunday, September 25, 2022
Homeशिक्षा जगतसंस्कृति विश्वविद्यालय ने लिया भारत को विश्वगुरु बनाने का संकल्प

संस्कृति विश्वविद्यालय ने लिया भारत को विश्वगुरु बनाने का संकल्प

  • जोश और जुनून के साथ मनाया 75वां स्वतंत्रता दिवस


मथुरा। संस्कृति विश्वविद्यालय में 75वां स्वतंत्रता दिवस बड़ी धूम-धाम और जोश के साथ मनाया गया। कैंपस के अधिकारियों, कर्मचारियों ने विश्वविद्यालय के मुख्य मैदान में ध्वजारोहण कर देश की आजादी के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले अमर शहीदों को याद किया और भारत को विश्वगुरु बनाने का संकल्प लिया। तिरंगे के प्रति अपना सम्मान प्रदर्शित करने के बाद सबने भारत माता और वंदेमातरम के नारों से सारे विवि के प्रांगण को गुंजित कर दिया।


समारोह के दौरान संस्कृति विवि की एनसीसी विंग के कैडेट्स ने तिरंगे को परंपरागत तरीके से सलामी दी। इस मौके पर संस्कृति विवि के कुलपति डा. तन्मय गोस्वामी ने कहा कि हमने पूरे वर्ष भारत की आजादी अमृत महोत्सव मनाया। विवि के विभिन्न विभागों ने सालभर आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष के अभियान के तहत बड़े ही रुचिकर और देशभक्ति से ओतप्रोत कार्यक्रमों का आयोजन कर लोगों को जागरूक किया। उन्होंने कहा कि देश को आगे ले जाने के संकल्प को पूरा करने की जिम्मेदारी हम शिक्षकों की ज्यादा बनती है। वैसे तो देश की तरक्की में हर वर्ग और समाज अपनी भूमिका निर्वाह कर रहा है लेकिन शिक्षकों की भूमिका बहुत अहम रहने वाली है।


संस्कृति स्कूल आफ एग्रीकल्चर के डीन डा. रजनीश त्यागी ने कहा कि भारत बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है। इस गति को और तेज करने के लिए हमें जापान और इजराइल को अपना आदर्श बनाना होगा। जापान की तरह हमें हर तकनीक स्वयं खड़ी करनी होगी और स्वदेशी अपनाने की आदत डालनी होगी। इजराइल की तरह संघर्ष करने की आदत डालनी होगी और अपने लक्ष्य हासिल करने होंगे। संस्कृति नर्सिंग स्कूल के प्राचार्य डा. केके पाराशर ने बड़े जोश के साथ अपने संबोधन में देश के गद्दारों के खिलाफ कड़े रुख को अपनाने की सलाह दी। उन्होंने नारा देते हुए कहा कि, इंकलाब का नारा हो, जय हिंद की बोली हो, जो भारत से करे गद्दारी उसके सीने में गोली हो। इस मौके पर संस्कृति विवि की ओएसडी श्रीमती मीनाक्षी शर्मा, आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. सुजित के.दलाई, रजिस्ट्रार पूरन सिंह, डीन एकेडमिक डा. योगेश चंद्रा, सब रजिस्ट्रार रवि त्रिवेदी आदि प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments