Friday, February 3, 2023
Homeशिक्षा जगतसंस्कृति यूनिवर्सिटी में शुरू हुआ एग्री क्लिनिक और नोडल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट

संस्कृति यूनिवर्सिटी में शुरू हुआ एग्री क्लिनिक और नोडल ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट

मथुरा। भारत सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय के स्वायत्त संगठन राष्ट्रीय कृषि विस्तार प्रबंध संस्थान (मैनेज) द्वारा संस्कृति विश्वविद्यालय में एग्री क्लिनिक और एग्री बिजनेस सेंटर का नोडल ट्रेनिंग इस्टीट्यूट शुरू किया गया है। जिले के कृषि विद्यार्थियों के लिए यह एक बड़ी उपलब्धि है, यहां से विद्यार्थियों को रोजगार के अवसर भी मिलेंगे।

संस्कृति स्कूल आफ एग्रीकल्चर के डीन डा. रजनीश त्यागी ने जानकारी देते हुए बताया कि किसानों की आय को दोगुना करने के लिए सरकार द्वारा कई योजनाएं और कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। इन दिनों सरकार ऐसे कार्यक्रमों पर अधिक जोर दे रही है जिससे युवाओं को रोजगार के अवसर मिल सकें। इसी क्रम में एग्री क्लीनिक और एग्री बिजनेस सेंटर खोलने की योजना भी शामिल है। संस्कृति विवि में खुले इस कृषि क्लीनिक और कृषि व्यवसाय केंद्र के माध्यम से खेती से जुड़े व्यक्ति या खेती से जुड़ने के इच्छुक व्यक्ति को 20 लाख रुपये तक का ऋण भी मिल सकता है।

इस योजना में शामिल होने वाले व्यक्ति को 45 दिनों का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके साथ ही यदि आवेदक की योजना उपयोगी पाई जाती है तो नाबार्ड यानी नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट आवेदक को ऋण उपलब्ध कराएगा। एसीएबीसी योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इसके लिए https://www.sanskriti.edu.in/media/agri-clinics.php पर जाना होगा। आवेदन करने के लिए आधार कार्ड नंबर, ईमेल आईडी, अंतिम शैक्षणिक योग्यता, बैंक खाते की जानकारी और फोटो जैसे दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।
ये लोग जुड़ सकते हैं इस योजना बेरोजगार कृषि स्नातक, कृषि डिप्लोमा धारक, कृषि में उच्चतर माध्यमिक और जैविक विज्ञान स्नातक और कृषि में स्नातकोत्तर इस योजना का लाभ ले सकते हैं। इसके साथ ही आवेदनकर्ता की उम्र 18 से 60 वर्ष की होनी चाहिए।


योजना के लिए ऋण और अलग-अलग वर्ग के लिए सब्सिडी
कृषि क्लीनिक और कृषि व्यवसाय केंद्र स्थापित करने के लिए नाबार्ड बैंक 20 लाख रुपये का व्यक्तिगत ऋण और प्रशिक्षण उद्यमियों के लिए 1 करोड़ रुपये तक का समूह लोन उपलब्ध कराता है। उद्यमियों को परियोजना लागत का 36 से 44 प्रतिशत लोन भी दिया जाएगा। इस लोन पर सामान्य श्रेणी के उद्यमियों को 36 प्रतिशत सब्सिडी भी दी जाएगी। वहीं अनुसूचित जातियों, जनजातियों और महिलाओं से संबंधित उद्यमियों को 44 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी। अधिक जानकारी के लिए आवेदक संस्कृति विवि छाता स्थित एग्री क्लिनिक या एग्री बिजनेस सेंटर पर व्यक्तिगत रूप से अथवा फोन नंबर नंबर 9719076229 पर संपर्क कर सकते हैं।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments