Tuesday, August 9, 2022
Homeन्यूज़एक्सक्लूसिवअध्यक्ष के समर्थन में उतरी भाजपा पार्टी, नयति हाॅस्पीटल प्रशासन पर लगाए...

अध्यक्ष के समर्थन में उतरी भाजपा पार्टी, नयति हाॅस्पीटल प्रशासन पर लगाए कई गंभीर आरोप

मथुरा। अपने धेवते को देखने नयति अस्पताल गए महानगर अध्यक्ष विनोद अग्रवाल के साथ सुरक्षा गार्डो की अभद्रता का मामला गरमा गया है। इस प्रकरण पर भाजपा पार्टी एकजुट होकर महानगर अध्यक्ष के साथ खड़ी हो गई है। नयति अस्पताल में आए दिन होने वाली इस प्रकार की घटनाओं को लेकर सत्ताधारी भाजपा पार्टी बेहद मुखर है, पार्टी के नेताओं ने अस्पताल को संवेदनहीन, व्यापार का अड्डा बनाने की बात कही है। आम लोगों के उत्पीड़न, भ्रष्टाचार के कई बिंदुओं पर जांच की मांग की गई है।
पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष नगेंद्र सिकरवार ने कहा है कि ये कोई अस्पताल नहीं है, एक काॅरपोरेट हाउस है, जहां मरीज और तीमारदारों से कोई सरोकार नहीं है, मात्र धन कमाना ही मुख्य उद्देश्य है। नयति हाॅस्पीटल एक संवेदनहीन स्थान है। उन्होंने कहा कि पार्टी महानगर अध्यक्ष रिसेप्शन पर अपने धेवते की जानकारी कर रहे थे, इसी बीच उनके साथ अभद्रता की गई। मारपीट जैसी घटना हुई, हिंदुस्तान के किसी भी अस्पताल में ऐसा व्यवहार नहीं होता है।
भाजपा के वरिष्ठ पार्षद हेमंत अग्रवाल ने नयति अस्पताल प्रशासन पर भ्रष्टाचार के कई आरोप लगाए, उन्होंने कहा कि इसकी नींव ही भ्रष्टाचार पर खड़ी की गई है। मरीजों को सुविधाओं के नाम ठगा जा रहा है। उन्होंने इन घोटालों की जांच कराने की मांग की है। पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रदीप गोस्वामी ने कहा नयति जब खुला था लोगों को उम्मीद जगी कि उन्हें सस्ता और अच्छा इलाज मिलेगा लेकिन हालात ठीक उलट है। यहां सबसे महंगा इलाज है और व्यवहार बेहद खराब। दवाइयों के नाम पर बड़ा घोटाला है। इन सभी बिंदुओं पर जांच कराई जाएगी।
पूर्व सभासद राजू यादव ने कहा कि ये अस्पताल नहीं व्यापार का अड्डा बन गया है। सुरक्षा गार्ड तीमारदारों से तानाशाही व्यवहार करते है। मीडिया प्रभारी श्याम चतुर्वेदी ने कहा नयति में ये कोई नई घटना नहीं है, यहां लाश पर रूपये मांगे जाते है, वेंटीलेटर के नाम पर मरीजों के तीमारदारों से मोल भाव होता है। ये बेहद निंदनीय है, प्रशासन को इसकी जांच कराकर कड़ी से कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments