Thursday, August 18, 2022
Homeन्यूज़सरकार के खजाने में नहीं है पैसा, इसलिए अफसरों ने रोक दिया...

सरकार के खजाने में नहीं है पैसा, इसलिए अफसरों ने रोक दिया शादियों का कार्यक्रम

मथुरा। बीते वित्तीय वर्ष में 800 शादियां कराने के लक्ष्य के सापेक्ष समाज कल्याण विभाग को प्रदेश सरकार से 313 शादियों के लिए ही बजट जारी किया गया है। इस पर कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया है।
इस योजना में एक जोड़े के लिए अब 51 हजार रुपये जारी किए जाते हैं। इसके लिए चालू वित्तीय वर्ष में समाज कल्याण को 313 शादियों के लिए पहली किश्त जारी कर दी गई थी। विभिन्न एनजीओ के माध्यम से समाज कल्याण विभाग ने मथुरा, छाता, गोवर्धन, वृंदावन व आसपास इलाके में 313 जोड़ों की शादियां करा दी।
अब विभाग ने मकर संक्रांति पर नौहझील में 101 जोड़ों की शादियों के लिए विभिन्न ब्लॉक से पंजीकरण कराए थे। इसमें 50 से अधिक पंजीकरण हो भी गए, लेकिन अब लखनऊ से शादियों के इंतजाम के लिए बजट जारी ही नहीं किया गया है। इसे देखते हुए समाज कल्याण विभाग ने आनन फानन में कार्यक्रम स्थगित कर दिया है। जिन जोड़ों की शांदियां होनी थी उन्हें सूचना देकर मना किया गया है।
अब दो, तीन एनजीओ मिलकर किसी शुभ महुर्त में शादी कराने की बात कह रहे हैं। वहीं समाज कल्याण अधिकारी करुणेश त्रिपाठी का कहना है कि शासन स्तर से आगे होने वाली शादियों के लिए फिलहाल पैसा नहीं दिया गया है। जो 313 शादियों का पैसा मिला था, उनका लक्ष्य पूरा कर लिया गया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments