Monday, July 4, 2022
Homeन्यूज़न्यूज़शाही ईदगाह में से साक्ष्य मिटाने की आशंका, कोर्ट से एएसआई सर्वे...

शाही ईदगाह में से साक्ष्य मिटाने की आशंका, कोर्ट से एएसआई सर्वे व निगरानी कराने की मांग

मथुरा। श्रीकृष्ण जन्मभूमि मंदिर – शाही ईदगाह विवाद मामले में वादी मनीष यादव ने मथुरा सिविल जज सीनियर डिविजन की कोर्ट में एक और प्रार्थना पत्र दिया। मामले की अगली सुनवाई 1 जुलाई को होगी। इससे पहले उन्होंने खुद को भगवान श्रीकृष्ण का वंशज बताते हुए कोर्ट में दावा दायर किया था। उन्होंने कहा कि शाही ईदगाह में जिस स्थान पर नमाज अदा की जाती है वही भगवान श्रीकृष्ण का गर्भ गृह है। इस मामले का जल्द निपटारा किया जाना चाहिए।

अपीलकर्ता मनीष यादव ने अपने पत्र में कहा है कि प्रतिवादी पक्ष साक्ष्य मिटा रहे हैं। इसलिए जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक और सीआरपीएफ कमांडेंट को सुरक्षा के लिए निर्देशित किया जाए ताकि साक्ष्य सुरक्षित रहे। नए प्रार्थना पत्र में वादी ने विवादित मस्जिद या ईदगाह स्थल पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं और उसकी सुरक्षा बढ़ाई जाए. साथ ही गृह विभाग के अपर प्रमुख सचिव पूरी कार्यवाही की मानिटरिंग करें. उन्होंने विवादित स्थल का एएसआई सर्वे भी कराया जाने की मांग की है. यादव ने शाही ईदगाह को ऑर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया एएसआई के हवाले किए जाने की मांग की है।

अनजान लोगों को ईदगाह आने से रोकें

मनीष यादव ने मथुरा कोर्ट में दो प्रार्थना पत्र दिए थे। अपनी मांग में साफ कहा कि किसी भी अनजान व्यक्ति को विवादित स्थल पर प्रवेश ना दिया जाए। उन्होंने कहा कि विवादित ईदगाह में सीआरपीएफ की तैनाती बढ़ाई जाए और डीएम सुरक्षा इंतजामों की जिम्मेदारी लें। दूसरी ओर शाही ईदगाह की ओर से मुस्लिम संस्थाओं ने कोर्ट में लड़ाई लड़ने वालों की मदद करने का ऐलान किया है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments