Monday, July 4, 2022
Homeन्यूज़न्यूज़जयमाला के बाद मनपसंद बाइक न मिलने पर दूल्हे ने किया बवाल,...

जयमाला के बाद मनपसंद बाइक न मिलने पर दूल्हे ने किया बवाल, सदमे में दुल्हन ने फांसी लगा दी जान

लखनऊ। एक शादी में एक ऐसी अनहोनी हो गई कि जिसने भी सुना उसकी आंखें भर आईं। जयमाल हो जाने के बाद दूल्हे ने लड़की के घर वालों के सामने दहेज की ऐसी मांग रख दी कि वे पूरा नहीं कर पाए। फिर क्या था बारात लौट गई और इस सदमे से दुखी दुल्हन ने खुदकुशी कर ली। दो दिन पहले शादी के चलते हर ओर खुशियों का माहौल था लेकिन अब इस घटना के बाद पूरे गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है।

स्प्लेंडर नहीं थी पसंद
लखनऊ के माल थाना क्षेत्र के नारायणापुर गहदो गांव में रविवार को शादी हो रही थी। लेकिन, उसी बीच दूल्हे को उसकी मनपसंद बाइक न मिलने पर उसने बवाल कर दिया। खास बात यह है कि उस समय जयमाल की रस्म भी हो चुकी थी। दूल्हे ने मनपसंद बाइक की जिद की, कन्या पक्ष बाइक देने में असमर्थ था। इतनी सी बात पर दूल्हे ने वहां खूब जमकर बवाल काटा और बरात लेकर वापस लौट गया। इस घटना से दुखी होकर दुल्हन ने भी सोमवार रात घर में फांसी लगाकर जान दे दी।

नरायणापुर गहदो निवासी अमित कुमार की भतीजी संध्या की शादी नौबस्ता सलेहनगर निवासी ठाकुरदीन के बेटे अमर बहादुर से होनी थी। संध्या के पिता अजय कुमार की मृत्यु हो चुकी है। इसलिए चाचा अमित ने भतीजी की शादी में कोई कमी न रहे, इसका पूरा ख्याल रखा। दहेज के लिए दूल्हे की हर मांग पूरी की। आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण मांगी गई अपाचे बाइक की जगह स्पलेंडर खरीदी थी।

रविवार 15 मई को बरात दरवाजे पहुंची। धूमधाम से बरात का स्वागत किया गया। दूल्हा और उसके दोस्त नाचते-गाते स्टेज पर पहुंचे। वहां जयमाल का कार्यक्रम पूरा हुआ। इसके बाद दूल्हे की नजर स्टेज से उतरते ही दहेज में मिली बाइक पर पड़ी तो वह भड़क गया। उसने तुरंत शादी से इनकार कर दिया। दुल्हन पक्ष के लोग दूल्हे के मान-मनौव्वल में जुट गए लेकिन दूल्हा अचानक उठा और अपने रिश्तेदारों के साथ मंडप से निकल गया।

जेवरात न लाने पर हुआ था विवाद

गांव वालों के मुताबिक, दूल्हा जहां बाइक के लिए हंगामा कर रहा था। वहीं जैसे ही मंडप में कार्यक्रम शुरू हुआ तो घर की महिलाओं ने जेवरात देख नाराजगी जाहिर की। इस बात पर दूल्हा पक्ष और दुल्हन पक्ष के लोगों में काफी देर तक कहासुनी चलती रही। नाराजगी इतनी बढ़ी कि नौबत हाथापाई तक पहुंच गई। मौका देख दूल्हा और उसके करीबी रिश्तेदार वहां से खिसक गए। आरोप है कि बाइक तो सिर्फ बहाना था। जेवरात मन मुताबिक न होने से भी लड़के वाले नाराज थे।

पंचायत के बाद दूल्हा पक्ष ने लौटाए 82,500 रुपए

लड़की के गांव वालों ने नौबस्ता सालेहनगर में अपने परिचितों के जरिए दूल्हा पक्ष पर दबाव बनाना शुरू किया। देर रात तक बातचीत के बाद सोमवार सुबह इस मामले की पंचायत बुलाई गई। पंचायत में दूल्हा पक्ष के लोगों ने शादी करने से साफ मना कर दिया। तय हुआ कि लड़के वाले रुपए वापस करेंगे। दूल्हा पक्ष के लोगों ने दुल्हन पक्ष को 82,500 रुपए वापस किए।

सबसे बड़ी थी संध्या

चाचा अमित के मुताबिक, उनके भाई अजय की मौत काफी पहले हो चुकी है। तीन भाई-बहनों में सबसे बड़ी संध्या थी। इसकी शादी में कोई कमी न रह जाए, इसके लिए पूरी कोशिश की थी। मां शांति भी इस बात से सहमत थी। संध्या बारात वापस होने का सदमा बर्दाश्त न कर सकी और सोमवार देर रात उसने फांसी लगा ली। उसे फंदे से लटका देख घरवाले उसे तुरंत अस्पताल लेकर गए जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक, मृतका के परिवारीजनों ने तहरीर नहीं दी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments