Sunday, September 25, 2022
Homeडिवाइन (आध्यात्म की ओर)परशुराम के जयकारों के साथ विप्रजनों ने शहर में निकाली भव्य शोभायात्रा

परशुराम के जयकारों के साथ विप्रजनों ने शहर में निकाली भव्य शोभायात्रा


कमल सिंह यदुवंशी
गोवर्धन।
ब्राह्मण सभा के तत्वावधान में विप्रजनों ने भगवान विष्णु के छठवें अवतार भगवान परशुराम की शहर में भव्य शोभायात्रा निकाली। यात्रा का दौरान नगर में जगह जगह पुष्प वर्षा कर भव्य स्वागत किया गया, और जयघोषों से गिरिराज तलहटी गूंज उठी। ब्राह्मण समाज के लोगों ने एकता औऱ अखंडता का संदेश दिया।

परशुराम शोभायात्रा मुकुट मुखारबिंद मंदिर के समीप से प्रारम्भ हुई, दसविसा, सौंख अड्डा, दानघाटी मंदिर, बड़ा बाजार, हाथी दरबाजा होते हुए चकलेश्वर पहुंची तो पूरा इलाका भगवान पशुराम के जयकारों से गूंज उठा। सैकड़ों की संख्या में जुटे लोगों ने जयकारे लगाये। बैंड बाजे की मधुर सुर लहरियों के मध्य विप्रजन जमकर थिरके। मनमोहक झांकियों ने दर्शकों का मनमोह लिया इस दौरान झांकियों पर दर्शकों ने पुष्प बरसा कर स्वागत किया।

प्रमुख समाजसेवी मनीष लम्बरदार एवं परीक्षित कौशिक ने भगवान महर्षि परशुराम के व्यक्तत्व पर प्रकाश डालते हुए जन कल्याण हेतु प्रवचन देकर सम्बोधित किया। कहा कि महर्षी परशुराम जी के जीवन से प्रेरणा लेकर उनके आदर्शों पर चलने का प्रयास करना चाहिए। सभी जातियों में भी ब्राह्मण पूज्य है और हमारे भारतवर्ष में भी ब्राह्मणों का देश के विकास में काफी योगदा है, ब्राह्मणों को अब अपनी एकता को पहचानना होगा और संगठित होकर समाज की कुरीतियों से लड़ना होगा , ब्राह्मण का धर्म केवल भिक्षा नहीं अपितु सबको शिक्षा देना और सब के विकास के हित में सोचना होता है।

इस अवसर पर नृत्य गोपाल शर्मा, परीक्षित कौशिक, मनीष लंबरदार, संजय शर्मा, विष्णु भगवान, सियाराम शर्मा, ज्ञान विहारी, रोहित शर्मा, देवेंद्र शर्मा, श्रीधर पाठक आदि उपस्थित थे। 

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments