Monday, February 26, 2024
Homeशिक्षा जगतनिःशुल्क दंत चिकित्सा शिविर में 500 से अधिक लाभान्वित

निःशुल्क दंत चिकित्सा शिविर में 500 से अधिक लाभान्वित

  • के.डी. डेंटल कॉलेज ने सेवाभाव के रूप में मनाया राष्ट्रीय प्रोस्थोडॉन्टिस्ट सप्ताह


मथुरा। जुनून प्रतिभा की उत्पत्ति है। अपने जुनून को जानने और जीने से आपका आत्मविश्वास बढ़ता है, विकास को बढ़ावा मिलता है, दिशा का बोध होता है तथा यह आपको सफलता की ओर ले जाता है। आप जो करते हैं और जहां हैं, उससे यदि आप उत्साही तथा गर्वित होते हैं तो उससे आप हमेशा सफलता की राह चलते हैं। उक्त सारगर्भित उद्गार के.डी. डेंटल कॉलेज एण्ड हॉस्पिटल के डीन और प्राचार्य डॉ. मनेष लाहौरी ने इंडियन प्रोस्थोडॉन्टिक सोसाइटी तथा एशियन एकेडमी ऑफ प्रोस्थोडॉन्टिक्स द्वारा आयोजित राष्ट्रीय प्रोस्थोडॉन्टिस्ट सप्ताह के शुभारम्भ अवसर पर भावी दंत चिकित्सकों को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए।


गौरतलब है कि के.डी. डेंटल कॉलेज एण्ड हॉस्पिटल द्वारा राष्ट्रीय प्रोस्थोडॉन्टिस्ट सप्ताह के अंतर्गत मथुरा जनपद के विभिन्न स्थानों पर निःशुल्क दंत चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया गया। इसी कड़ी में श्री श्यामा डेंटल क्लीनिक (श्री माताजी गौशाला, मानपुर, बरसाना) में वंचितों के लिए मुफ्त दंत उपचार शिविर आयोजित किया गया। जिसमें सैकड़ों दंत पीड़ितों की जांच और उपचार किया गया। शिविर में सभी विभाग प्रमुखों, पोस्ट ग्रेजुएट और इंटर्न के साथ-साथ ओरल मेडिसिन एण्ड रेडियोलॉजी, ओरल एण्ड मैक्सिलोफेशियल सर्जरी, पेरियोडोंटोलॉजी, एंडोडोंटिक्स के साथ-साथ पब्लिक हेल्थ डेंटिस्ट्री विभाग से जुड़े लोगों ने बढ़-चढ़कर सेवाएं दीं।


दंत चिकित्सा शिविर में मरीजों के लाभार्थ दो डेंटल कुर्सियों के साथ-साथ सभी आवश्यक उपकरण तथा कॉलेज मोबाइल वैन की उपलब्धता सुनिश्चित की गई। शिविर में 500 से अधिक रोगियों की जांच की गई तथा लगभग 110 रोगियों को प्रोस्थोडॉन्टिक पुनर्वास प्राप्त करने के लिए पीजी और इंटर्न को सौंपा गया। शिविर में एक्सट्रेक्शन, रेस्टोरेशन, आरसीटी और ओरल प्रोफिलैक्सिस भी किए गए। शिविर में बड़ी संख्या में रोगियों को देखते हुए इस सेवाभावी कार्य को फरवरी के अंत तक बढ़ा दिया गया है। संस्थान का ध्येय वाक्य हीलिंग हैंड्स, केयरिंग हार्ट्स है।


पीजी छात्र-छात्राओं द्वारा प्रोस्थोडॉन्टिक्स पब्लिक अवेयरनेस अभियान के लिए एक संक्षिप्त वीडियो भी बनाया गया था ताकि सभी को के.डी. डेंटल कॉलेज एण्ड हॉस्पिटल की विशेषताओं और उपलब्ध उपचार विकल्पों के बारे में जानकारी दी जा सके। सप्ताह भर चलाए गए दंत उपचार और जागरूकता शिविर में डॉ. मनेष लाहौरी और फैकल्टी सदस्यों द्वारा “प्रोस्थोडॉन्टिक्स में उपचार के विकल्प” नामक पुस्तिका जारी की गई। इस पुस्तिका में दांतों की समस्या और उसके निदान को संकलित किया गया है। के.डी. डेंटल कॉलेज एण्ड हॉस्पिटल के इस सेवाभावी कार्य की सभी दंत रोगियों ने सराहना की। गौरतलब है कि के.डी. डेंटल कॉलेज एण्ड हॉस्पिटल, मथुरा ने दंत रोगियों की देखभाल, अनुसंधान के क्षेत्र में अपनी विशिष्ट छाप छोड़ी है। इस शिविर की समस्त व्यवस्थाओं की जवाबदेही प्रशासनिक अधिकारी नीरज छापड़िया की देखरेख में उत्साही छात्र-छात्राओं और कर्मचारियों ने सम्हाली।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments