Thursday, May 30, 2024
Homeन्यूज़न्यूज़संस्कृति विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को साटा विकास कंपनी में मिली नौकरी

संस्कृति विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को साटा विकास कंपनी में मिली नौकरी

मथुरा। संस्कृति विश्वविद्यालय के स्कूल आफ डिप्लोमा इंजीनियरिंग के 29 विद्यार्थियों को देश की नामचीन कंपनी साटा विकास प्रा.लि. ने अपने यहां नौकरी दी है। संस्कृति विवि के विद्यार्थियों को देश में तेजी से आगे बढ़ती कंपनियां और बहुराष्ट्रीय कंपनियां लगातार नौकरियां दे रही हैं। हाल ही में संस्कृति विवि के विद्यार्थियों को मैजिक पिन, जेबीएम ग्रुप, हाईटेक इन्फ्रा प्रमोटर्स प्रा.लि. ने अपनी कंपनियों के लिए चयनित किया है।

देश की प्रमुख मेटल कंपनी साटा विकास प्रा.लि. ने कैंपस प्लेसमेंट के दौरान इलेक्ट्रिकल, मैकेनिकल डिप्लोमा इंजीनियरिंग पूरा करने वाले ब्रजेश सिसोदिया, ब्रज किशोर, योगेश, रवि पांचाल, रवि कुमार, मनीश शर्मा, प्रवीन कुमार, दिलशाद खान, अमित सिंह, राकेश रावत, कृष्ण गोपाल, शिवम कुमार उपाध्याय, विशाल चौधरी, सौरभ, विश्वेंद्र सिंह, अजय कुमार भारद्वाज, प्रमोद, रोहन शर्मा, लोकेश, कृष्ण कुमार, गौरव शर्मा, पवन, रवि, ललित कुमार, तेजवीर कुमार, मनीष कुमार, योगेश कुमार, आदर्श कुमार को नियुक्ति पत्र प्रदान किये हैं।


कंपनी के एचआर विभाग ने बताया कि 2007 में उभरते भारतीय और एशियाई मोटर वाहन बाजारों पर कब्जा करने की दृष्टि से स्थापित, साटा विकास विकास समूह और इटली के साटा(SATA) स्पा (पहले मार्टिनेली कहा जाता था) के बीच एक संयुक्त उद्यम है, जो ऑटोमोटिव के लिए सटीक मशीनिंग के आला परिदृश्य में एक प्रमुख वैश्विक कंपनी है। फिक्स्चर, सटीक मशीनिंग और उच्च तकनीक और उच्च गुणवत्ता वाले घटकों की एक विस्तृत श्रृंखला की असेंबली में इसकी क्षमता मुख्य रूप से यात्री कार, उपयोगिता वाहन, वाणिज्यिक वाहन और ऑफ-रोड सेगमेंट में ओईएम के लिए इंजन, ट्रांसमिशन और कंप्रेसर घटकों में अनुवाद करती है।


विद्यार्थियों के इस प्लेसमेंट पर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर एसबी चेट्टी ने हर्ष व्यक्त करते हुए उनके उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी हैं। विवि की विशेष कार्याधिकारी श्रीमती मीनाक्षी शर्मा ने हर्ष व्यक्त करते हुए विद्यार्थियों से अपेक्षा की है कि वे अपनी कड़ी मेहनत और ज्ञान से निरंतर तरक्की करें और विवि का नाम ऊंचा करें।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments